(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान Paper-1 - 2010

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2010 पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान (Paper-1)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित में से किन्हीं पाँच पर प्रत्येक लगभग 150 शब्दों में संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए : 

(क) गाय में नॉन-प्रोटीन नाइट्रोजन यौगिकों का उपयोजन

(ख) रोमन्थी पशुओं के आहार में रूपांतरित वसा की भूमिका

(ग) संकर गायों में अत्यधिक ठंड और गर्मी को वहन करने की शारीरिक रक्षा प्रणाली

(घ) गुणसूत्र उत्परिवर्तन/विपथन के लक्षणप्ररूपी परिणाम

(ङ) आनुवंशिकता के मोटे तौर पर पूर्वानुमान की उसके संकीर्ण पूर्वानुमान से भिन्नता

(च) स्वच्छ दुग्ध उत्पादन के सिद्धांत 

2. (क) उच्च लब्धि की संकर गायों की खुराक का सूत्रीकरण करते हुए आप भारतीय संदर्भ में किस आधुनिक आहार मानक की अनुशंसा करेंगे, जिसे यहाँ अपनाना पूरी तरह संगत होगा ?

(ख) बहुजठरीय तथा एकलजठरीय पशुधन जातियों के आहार में विभिन्न विटामिनों की अनिवार्यता के संदर्भ में विद्यमान पारस्परिक पृथक्ताओं की व्याख्या करें ।

(ग) विभिन्न खनिज स्रोतों के बीच और उनके आपस में स्वभावज घटित होने वाली पारस्परिक क्रियाएँ विभिन्न पशुधन जातियों में खनिजों का असंतुलन, हीनता तथा आविषालुता कैसे प्रेरित करती हैं ? अपने उत्तर की अभिपुष्टि के लिए उपयुक्त उदाहरण प्रस्तुत करें ।

3. (क) गाय में चयापचयी क्षारमयता का वर्णन करें । वायुकोश एवं फुप्फुस केशिका रुधिर के बीच ऑक्सीजन तथा कार्बन डाइऑक्साइड के आदान-प्रदान के लिए विसरण प्रक्रिया की भी विवेचना करें । 

(ख) ग्रामीण वित्त हीन (निर्धन) के लिए "स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना" की उपयोगिता का वर्णन करें जिससे कि उनका सामाजिक एकत्रीकरण होकर स्वावलम्बी (स्व-सहायता) समूहों तथा लघु-उपक्रमों की स्थापना हो पा रही है। 

4. (क) भ्रूण स्थानान्तरण प्रौद्योगिकी तथा उसके अनुप्रयोगों में निहित चरणों की व्याख्या करें । 

(ख) CP तथा ME के संदर्भ में प्रवर्तक, रोपक तथा परिष्कृति शूकर के BIS विनिर्देश क्या हैं ? 

(ग) मद-तुल्यकालन क्या है ? यह पशुधन फार्म गृह के लिए कैसे हितकर है ? संक्षेप में MOET की संकल्पना की विवेचना करें ।

खण्ड-'B'

5. निम्नलिखित में से किन्हीं पाँच पर प्रत्येक लगभग 150 शब्दों में संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए : 

(क) पशुधन आहार में सूखी घास तथा साइलेज का महत्त्व

(ख) पशुधन रिकॉर्ड और उनका महत्त्व

(ग) भैंसों में ग्रीष्म अमद-अवस्था

(घ) बायोगैस प्रौद्योगिकी का महत्त्व

(ङ) जनसंख्या की बदलती आनुवंशिक संरचना को प्रभावित करने वाले ,तत्त्व

(च) गोजाति में रक्त वर्ग विशेषताएँ . 

6. निम्नलिखित में से किन्हीं पाँच के बीच प्रत्येक लगभग 150 शब्दों में भेद बताएँ : 

(क) गुणात्मक विशेषक बनाम मात्रात्मक विशेषक

(ख) कोशिकानुवंशिकी बनाम अणु-आनुवंशिकी

(ग) लिंग-प्रभावित विशेषक बनाम लिंग-सीमित विशेषक

(घ) आनुवंशिक अपव्यूही संगम बनाम आनुवंशिक व्यूही संगम

(ङ) उत्पादन विशेषक बनाम प्रजनन विशेषक

(च) अनुक्रमिक विधि से वरण बनाम वरण सूचक

7. (क) अंतःप्रजनन का प्रमुख प्रभाव क्या है ? क्या अंतःप्रजनन अपने आप में अप्रभावी जीनों की बारंबारता बढ़ाता है ? व्याख्या करें ।

(ख) प्रजननकर्ता सामान्य रूप से अंतःप्रजनन से क्यों बचते 

(ग) यदि पैतृक पीढ़ी में 1600 विषमयुग्मजी जीव हैं, तो जीनों के युग्म ('A' प्रभावी विकल्पी; 'a' अप्रभावी विकल्पी) का प्रयोग करते हुए उदाहरण-सहित स्पष्ट करें कि चार पीढ़ियों में अंतःप्रजनन के आनुवंशिक प्रभाव से कैसे समयुग्मजता बढ़ती है तथा विषमयुग्मजता घटती है । 

8. (क) डेरी फार्म पर बछियाओं की देखभाल तथा प्रबंधन का वर्णन करें ।

(ख) डेरी सांड आधे यूथ के बराबर गिना जाता है - इस कथन का सार्थक सिद्ध करें ।

(ग) प्रजनन सांडों की प्रबंधन रीतियों को गिनाइए ।

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit