(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान Paper-2 - 2010

2UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2010 पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान (Paper-2)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित में प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में संक्षिप्त टिप्पणी लिखें : 

(a) MMA संलक्षण (शूकरी प्रसव ज्वर), उत्पत्ति तथा लाक्षणिक अभिव्यक्तियाँ ।

(b) सुपरऑक्साइड रचना में अपमार्जन एन्जाइमों की भेषजगुणविज्ञानीय भूमिका ।

(c) गोश्त के दूषण के लिए दोषी बाह्य तथा आन्तर कारक ।

(d) आइसक्रीम के औद्योगिक निर्माण में विभिन्न संघटकों की भूमिका ।

2. (a) मादा कुक्कुट की प्रजनन प्रणाली की क्रियात्मक शारीर रचना का वर्णन करें ।

(b) गोपशुओं में ग्रासनली अवरोध तथा हार्निया के निदान का वर्णन करें तथा उसका शल्यक्रिया प्रबंधन सुझाएं । 

3. निम्नलिखित का वर्णन करें : 

(a) 'पशुओं में टीकाकरण के विफल होने के कारण ।

(b) पशुचिकित्सा-विधिशास्त्र मामले में शव परीक्षण करते समय पालन किए जाने वाले नियमः ।

(c) प्रतिरक्षा-माडुलन (इम्यूनोमोडुलेशन) में बाह्य तथा आन्तर नियमन की भूमिका ।

4. (a) कुक्कुट में गमबोरो रोग की हेतुकी, विकृतिजनन, सकल. (ग्रॉस) विक्षतियाँ, निदान तथा निवारण की व्याख्या करें। 

(b) गोश्त इमल्शन का तात्पर्य क्या है ? यह कैसे तैयार किया जाता है ? गोश्त वर्धन (मीट एक्सटेंशन) के लाभ व्याख्या के साथ प्रस्तुत करें । 

खण्ड-'B'

5. निम्नलिखित में प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में संक्षिप्त टिप्पणी लिखें : 

(a) दूध की गुणवत्ता जांचने के लिए किए जाने वाले प्लेटफार्म जांच-परीक्षण

(b) तांत्रिकीय (न्यूरोलॉजिकल) विकारों की जांच के लिए अपनाई जाने वाली प्रविधियां

(c) गोश्त तथा गोश्त उत्पादों के लिए रूपांतरित वायुमंडलीय पैकेजिंग (माडिफाइड एटमोसफियर पैकेजिंग; MAP)

(d) पशुओं की वृद्धि तथा उत्पादन में अरुचिजनक कारकों की भूमिका ।

6. (a) पक्षी इन्फ्लुएंजा के जानपदिक-रोगविज्ञान, हेतुकी, शव परीक्षण विशिष्टताएं, निदान तथा निवारण की व्याख्या करें ।

(b) अंडा-परिरक्षण की तापस्थिरीकरण तथा तेल अभिक्रिया तकनीकों का क्या तात्पर्य है ?

7. (a) हिस्टैमिन के संश्लेषण, भंजन, उपस्थिति एवं श्वसन-क्रिया, शशक तथा श्वान के रक्तदाब, तथा ऐलर्जीजन्य प्रतिक्रियाओं पर उसकी भेषजगुणविज्ञानीय क्रियाएं पर टिप्पणी करें। 

(b) ग्लैंडर्स एंड फार्सी एक्ट, 1899 के प्रावधान का विवेचन करें । 

(c) ऊष्मा-विनिमय के सिद्धांतों तथा उच्च तापमान-अल्प अवधि (HTST) विधि से दूध पास्तेरीकरण के प्रक्रम की व्याख्या करें । साथ ही HTST उपस्कर के प्रत्येक घटक के प्रकार्यों की भी व्याख्या करें ।

8. (a) पशुओं में होने वाले रोगों का निदान करने के लिए प्रयुक्त विविध आधुनिक यंत्रों तथा जैव रासायनिक परीक्षणों का वर्णन करें ।

(b) गोपशु में काला पाद रोग की हेतुकी, विकृतिजनन, लाक्षणिक विशिष्टताओं, निदान तथा निवारण की व्याख्या करें ।

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit