(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा भूविज्ञान Paper-2 - 2010

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2010 भूविज्ञान (Paper-2)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित में से प्रत्येक के लगभग 150 शब्दों में उत्तर दीजिए: 

(क) रासायनिक साम्यावस्था क्या होती है ? उपयुक्त उदाहरण के साथ, शैलों में साम्यावस्था अवस्था के विक्षोभ के परिणाम को स्पष्ट कीजिए।

(ख) समझाइए कि रसायन और प्रकाशिक गुणधर्मों के आधारों पर किस प्रकार से विभिन्न फेल्डस्पार एक दूसरे से भिन्न होते हैं।

(ग) (i) वायुमंडल में आक्सीजन किस प्रकार शैलों और खनिजों में आक्सीजन से भिन्न होती है ?

(ii) क्या बर्फ को एक खनिज कहा जा सकता है ? 

(iii) क्या ग्लेशियर को एक शैल कहा जा सकता है ? - 

(घ) उन कारकों पर चर्चा कीजिए जो आग्नेय शैलों में गलन ताप का नियंत्रण करते हैं। विभिन्न संयोजनों के मैग्मा किस प्रकार विकसित होते हैं ? 

2. आरेखों की सहायता से चर्चा कीजिए : 

(क) द्विअपवर्तन

(ख) द्विअक्षीय खनिजों के प्रकाशिक चिह्न का निर्धारण

(ग) क्रिस्टलों में सममिति तत्व

3. (क) (i) जीव जात और स्थल जात अवसादों के बीच क्या अंतर है ? . 

(ii) अवसादी शैल बनने के लिए दफन क्यों आवश्यक है ? 

(iii) क्या कारण है कि अवसादी शैलों के अधिकांश संस्तर क्षैतिजतः बनते हैं ? .. 

(iv) अवसादी शैलो में भारी खनिजों के उद्गम क्षेत्रों की पहचान किस प्रकार की जाती है ? . 5 

(ख) कायांतरित खनिजों पर और शैलों में कायांतरण के गठनों पर ताप, परिरोधी दाब और विभिन्न प्रतिबलों के क्या प्रभाव होते हैं ? कायांतरण के लिए ऊष्मा के कौन-कौन से विभिन्न स्रोत हैं ? 

(ग) निम्नलिखित के बीच क्या अंतर हैं : 

(i) विदलन और बाह्य क्रिस्टल रूप

(ii) खनिज का रंग और वर्णरेखा 

4. (क) पंक विदर अवसादी शैल के निक्षेपण पर्यावरण के बारे में क्या जानकारी प्रदान करते हैं ? क्रमिक तल किस प्रकार बनता है ? अवसादी संकोणाश्म बाह्य-आकृति और उद्गम में संगुटिकाश्म (कौंग्लोमरेट) से किस प्रकार भिन्न होता है ? 'वाष्पनज निक्षेप' क्या होता है और वह किस प्रकार बनता है ?

 (ख) ज्वालामुखिता में गैसें क्या भूमिका अदा करती हैं ? शिरोधानी संरचनाएं (पिलो स्ट्रक्चर्स) ज्वालामुखिता के पर्यावरण के बारे में क्या सूचित करती हैं ? लावा की श्यानता किस बात से निर्धारित होती है ? क्या कारण है कि बहिर्वेधी शैल सूक्ष्मकणिक होते हैं ? 

खण्ड-"ख"

5. निम्नलिखित में से प्रत्येक का लगभग 150 शब्दों में उत्तर दीजिए : 

(क) अयस्क का 'टैनर' क्या होता है ? अयस्क पिंड की 'आमापन चौड़ाई' और 'औसत चौड़ाई' से क्या तात्पर्य है ? खान प्रतिचयन की विभिन्न विधियां बताइए । अयस्क निचय के निर्धारण में प्रतिचयन किस प्रकार सहायता करता है ? 

(ख) खनिज निक्षेपों के वे कौन से विभिन्न प्रकार हैं जिनमें भूभौतिकीय पूर्वेक्षण की

(i) चुंबकीय

(ii) स्वजनित विभव

(iii) प्रतिरोधकता और

(iv) गुरुत्व विधियां लागू की जाती हैं 

(ग) तत्वों के समाकृतिक प्रतिस्थापन के नियमों को संक्षेप में समझाइए और जहाँ कहीं आवश्यक हो उदाहरण पेश । कीजिए। 

(घ) भूकंप किस प्रकार सुनामी उत्पन्न करते हैं ?

6: (क) अवसादी और मैग्मीय लौह अयस्क निक्षेपों के आश्मिक साहचर्यों के बीच तुलना कीजिए। भारत में पाए जाने वाले इन दो प्रकारों के निक्षेपों की अवस्थितियों के नाम . बताइए । भारत के किसी एक महत्वपूर्ण अवसादी लौह अयस्क निक्षेप के भूविज्ञान, खनिजिकी एवं विरचन विधा का वर्णन कीजिए। 

(ख) प्रकृति में तेल और प्राकृतिक गैस किस प्रकार बनते हैं ? कौन से भूवैज्ञानिक कारक उनको आर्थिक रूप से समुपयोज्य निचय बनाते हैं ? बौम्बे हाई में हाइड्रोकार्बन उपस्थिति का संक्षेप में वर्णन कीजिए। 

7. (क) संस्पर्श कायांतरी अयस्क निक्षेपों और संस्पर्श पश्चकायिक अयस्क निक्षेपों के बीच विभेदन कीजिए। ऐसे निक्षेपों के भारतीय उदाहरण प्रस्तुत कीजिए । प्रकृति में पौर्फिरी तांबा निक्षेप किस प्रकार बनते हैं ? मलाजखंड तांबा अयस्क निक्षेप पर एक टिप्पणी लिखिए।

(ख) जल-भूरासायनिक और जीव-भूरासायनिक पूर्वेक्षण विधियां सविस्तार गिनाइए । पेडो-भूरासायनिक पूर्वेक्षण खनिज निक्षेपों के पूर्वेक्षण में किस प्रकार सहायता करता है। अंत में भूरासायनिक प्रतिचयन पर टिप्पणी लिखिए । 

8. (क) तत्वों की अंतरिक्षी प्रचुरता का विस्तार पूर्वक वर्णन कीजिए।

(ख) क्या कारण है कि मृदासर्पण ठंडी जलवायुओं में शीतोष्ण जलवायुओं के मुकाबले ज्यादा सामान्य है ? बृहत क्षरण (मास वेस्टिंग) को नियंत्रण करने वाले महत्वपूर्ण कारकों के नाम बताइए और स्पष्ट कीजिए । बृहत क्षरण के विभिन्न प्रकारों में जल क्या भूमिका निभाता है ?

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit