(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा इतिहास Paper-2 - 2011

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2011 इतिहास (Paper-2)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित कथनों का समालोचनात्मक मूल्यांकन कीजिए, जो प्रत्येक लगभग 200 शब्दों में हो :

(क) “ब्रिटेन को निधियों के एकपक्षीय अंतरण करने की आवश्यकता एक अपरिवर्ती कारक था, और तथ्य तो यह है कि यह कारक समय गुज़रने के साथ-साथ आरोही रूप से बढ़ता चला गया ।"

(ख) “युवा बंगाल ने धर्म और दर्शन के तल पर न के बराबर । सुस्पष्ट या स्थायी छाप छोड़ी थी ।"

(ग) “कांग्रेस के भीतर वामपंथी समूह के निर्गमन ने उसके सामाजिक और आर्थिक कार्यक्रम को अतिवादी बना दिया था ।" 

2. (क) “1833 के चार्टर ऐक्ट ने कंपनी के व्यापार पर परदा डाल दिया था और भारत में सरकार की एक नई संकल्पना का सूत्रपात किया था ।' तथ्यों को प्रस्तुत करते हुए इस कथन को पुष्ट कीजिए।

(ख) “प्राच्यता (ओरिएंटेलिज्म) ने औपनिवेशिक राज्य की आवश्यकताओं की पूर्ति करने के लिए भूतकाल के ज्ञान का सृजन किया ।' विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए।

(ग) “उन्नीसवीं शताब्दी के भारत में देशी भाषा प्रेस ने न केवल समाचार-पत्रों के रूप में सेवा की थी, बल्कि इससे भी ज़्यादा महत्त्वपूर्ण रूप से विचार-पत्रों के रूप में सेवा की थी ।' टिप्पणी कीजिए ।

3. (क) “1857 में, विद्रोही सिपाहियों ने दिल्ली में एकत्र होने के लिए, एक उल्लेखनीय अभिकेंद्रीय प्रवृत्ति दर्शाई थी ।" क्या आप इस बात से सहमत हैं ? तर्कों के द्वारा इसको परिपुष्ट कीजिए ।

(ख) “भारत में कृषकों सहित किसी भी अन्य समुदाय के मुकाबले, जनजातियों ने अधिक अकसर और कहीं अधिक प्रचंड रूप से विद्रोह किया था ।” विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए । 

4. (क) “नेहरू के 'आधुनिक भारत का मंदिर' में न केवल इस्पात और बिजली संयंत्र, सिंचाई बाँध ही शामिल थे, बल्कि उसमें उच्च विद्वत्ता की संस्थाएँ भी शामिल थीं, विशेषकर वैज्ञानिक क्षेत्र की ।' विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए ।

(ख) क्या आप इस बात से सहमत होंगे कि भारत का एक स्वतंत्र विदेश नीति का अनुसरण करने का प्रयास 1947-पश्चात् की राजनीति की एक विशिष्टता थी ?

खण्ड ‘B’

5. निम्नलिखित कथनों का समालोचनात्मक मूल्यांकन कीजिए, जो प्रत्येक लगभग 200 शब्दों में हो : 

(क) “हृदय की प्रेरणाओं पर मन के तर्क की अपेक्षा अधिक भरोसा किया जाना होता है ।'' - रूसो ।

(ख) “वर्साय की शांति में आरंभ से ही नैतिक मान्यता का अभाव था ।"

(ग) “1989 में बर्लिन दीवार का विध्वंस यूरोप में सहयोग के नए विचारों को लेकर आया ।" 

6. (क) “चार्टरवाद की जड़ें आंशिक रूप से राजनीतिक और आंशिक रूप से आर्थिक हैं ।" इसको विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए । 

(ख) “जो भी औद्योगिक क्रांति की बात करता है, वह कपास की ही बात करता है ।" टिप्पणी कीजिए।

(ग) “1914 तक पहुँचते-पहुँचते, यूरोप का रोगग्रस्त व्यक्ति केवल तुर्की नहीं रह गया था : वह तो स्वयं यूरोप ही था ।” स्पष्ट कीजिए । 

7. (क) समझाइए कि फिलीपीन्स में अमरीकी साम्राज्यवाद, इंडोनेशिया और इंडो-चाइना में यूरोपीय साम्राज्यवाद से किन बातों में भिन्न था ।

(ख) तुष्टीकरण की नीति ने नाज़ी विवर्धन की समस्या को किस प्रकार से बढ़ा दिया था ?

8. (क) क्या आप यह तर्क देंगे कि निर्गुट आंदोलन ने शांति के वातावरण की प्रोन्नति में एक निर्णायक भूमिका अदा की थी ?

(ख) पूर्वी यूरोप में सोवियत साम्राज्य के विध्वंस के पश्चात्, यूरोपीय एकता के प्रस्तावकों के समक्ष आ खड़ी होने. वाली चुनौतियों का परीक्षण कीजिए ।

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit