(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा विधि Paper-2 - 2011

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2011 विधि (Paper-2)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए। (प्रत्येक भाग का उत्तर 150 शब्दों से अधिक में नहीं होना चाहिए)। अपने उत्तर को विधिक उपबंधों और निर्णयजन्य विधि के द्वारा पुष्ट कीजिए। 

(क) "भारतीय दंड संहिता ऐसे व्यक्ति को संरक्षण प्रदान करती है, जो किसी अन्य के फायदे के लिए सद्भाव में कोई कार्य करता है।' चर्चा कीजिये।

(ख), "भारतीय दंड संहिता किन्हीं विशेष परिस्थितियों के अधीन दुर्भाग्य से किए गए कार्यों के लिए संरक्षण का विस्तार करती है।' चर्चा कीजिए।

(ग) “अपकृत्य का सरोकार, समाज में जिन हानियों का घटित होना निश्चित है, उनके आबंटन या उनके निवारण से है।' चर्चा कीजिए।

(घ) “किसी अन्य व्यक्ति के कार्य के द्वारा हुई हानि की वसूली कर सकने से पहले यह दर्शाना आवश्यक होगा कि उस व्यक्ति का मामला वादयोग्य दोषों के वर्ग में पड़ता है।" चर्चा कीजिए।

2. (क) “केवल किन्हीं ऐसे कार्यों का करना जो विधि द्वारा स्थापित सरकार के प्रति घृणा' या अवमान पैदा कर दें, राजद्रोह के लिए विनिश्चियात्मक संघटक नहीं है।' चर्चा कीजिए। साथ ही इस उपबंध पर सुधारों से संबंधित भारतीय विधि आयोग के विचार का कथन कीजिए।

(ख) भारत में प्रतिषिद्ध. नशीली दवा 'हशीश' को लाने के आशय से, .A. बांग्लादेश से भारत आते समय अपने बैग में चोरी-छिपे, एक लिफ़ाफ़ा ले कर आता है,, यह विश्वास करते हुए कि उस लिफाफे के अंदर हशीश है। उस वस्तु को B को बेचने की कोशिश के समय उसकी कीमत के संबंध में एक विवाद पैदा हो गया। B ने अनिच्छा से पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस ने बैग खोल लिया। पाया गया कि वस्तु एक अहानिकर नसवार' चूर्ण थीं, न कि हशीश । •A के दायित्व पर चर्चा कीजिए।

3. (क) “नग्नता और सैक्स को आवश्यक रूप से अश्लील, अशिष्ट या अनैतिक समझ लेना गलत होगा। सैक्स और अश्लीलता सदैव पर्यायवाची नहीं होते हैं।" उपरोक्त कथन के प्रकाश में भारत में अपराध के रूप में अश्लीलता की स्थिति को विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए।

(ख) एक थलसेना जवान X ने, जो पिछले दो वर्षों से अपने घर से दूर था, अपने वरिष्ठ Y से छुट्टी मांगी, जिसको Y ने इन्कार कर दिया। इस पर नाराज़ होकर, x ने Y पर दो गोलियां दागी । एक गोली Y की दाईं टांग के घुटने के नीचे लगी, जिसके परिणामस्वरूप वह नीचे गिर पड़ा। X ने एक और गोली चलाई जो Y के बाएं बाजू के ऊपरी भाग पर लगी। दस दिन के बाद Y की मृत्यु हो गई। X की देयता पर चर्चा कीजिए।

4: (क) “प्रतिवादी के लिए वादी के प्रति न केवल देखभाल के कर्तव्य का होना आवश्यक होता है, बल्कि आवश्यक होता है कि 'उसने उसको भंग किया हो। उपरोक्त कथन के प्रकाश में, परीक्षण कीजिए कि न्यायालय कैसे मालूम करेगा कि क्या प्रतिवादी' की तरफ से कर्तव्य का भंग किया गया है अथवा नहीं। निर्णयजन्य विधि का हवाला 

(ख) “उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, 1986 की अधिनियमिति ‘एवं क्रियान्वयन के साथ, भारत में एक नए उपभोक्ता विधि-शास्त्र का विकास हुआ है।" विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए। 

खण्ड 'B' 

5. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए। (प्रत्येक भाग का उत्तर 150 शब्दों से अधिक में नहीं होना चाहिए)। अपने उत्तर को विधिक उपबंधों और निर्णयजन्य विधि के द्वारा पुष्ट कीजिए : 

(क) “मानक फार्म संविदाएं, संविदा स्वातंत्र्य और पक्षकारों की __ सौदेबाज़ी शक्ति की समता के स्थापित सिद्धांतों की पूर्ण अवहेलना में, विद्यमान है।'' विस्तारपूर्वक स्पष्ट कीजिए।

(ख) “जब तक कोई प्राथमिकत: दायी न हो, तब तक गारंटी का कोई संविदा नहीं हो सकता है।' टिप्पणी कीजिए।

(ग) “परक्राम्यता का महान तत्व संपत्ति का अपने स्वयं के आचरण के द्वारा अर्जन है, न कि किसी अन्य के आचरण के द्वारा, अर्थात् यदि आप उसको सद्भावपूर्ण और मूल्यार्थ प्राप्त करते हैं, तो कोई भी आपको उससे वंचित नहीं कर सकता।'' स्पष्ट कीजिए।

(घ) “भारत में लोक-अदालतें 'वैकल्पिक विवाद समाधान योजनाओं' में अधिकथित प्रयोजन और उद्देश्यों को दर्शाती हैं।'' चर्चा कीजिए।

6. (क) “अनुसमर्थन अप्राधिकृत कार्यों का एक प्रकार का प्रतिज्ञान है।" समालोचनापूर्वक परीक्षण कीजिए। क्या 'विबंध के द्वारा अभिकरण' और 'अनुसमर्थन के द्वारा अभिकरण' के बीच कोई अन्तर होता है ? चर्चा कीजिए।

(ख) एक केंद्रीय सरकार चिकित्सा अनुसंधान संस्थान ने, एक बहुराष्ट्रीय कंपनी के सहयोग में, कैंसर का इलाज करने की एक दवा का मानवों पर प्रायोगिक आधार पर इस्तेमाल किया। उस दवा के कारण कुछ रोगियों की मृत्यु हो गई। ऐसे पीड़ितों की क्षतिपूर्ति के लिए और निजता के अधिकार के उल्लंघन के लिए मुकदमा दायर करने की दृष्टि से, एक रोगी के रिश्तेदार श्री X ने सूचना के अधिकार के हथियार के माध्यम से जानकारी मांगी। सूचना प्रदान करने से इन्कार कर दिया गया जिसका आधार बताया गया कि सूचना प्रदान विदेशी कंपनियों के साथ केंद्रीय सरकार की संविदाकरण शक्ति को प्रभावित करता है और व्यापार रहस्यों का भी उल्लंघन करता है। विनिश्चय कीजिए।

7. (क) “यह आवश्यक है कि प्रतियोगिता विधि में प्रतियोगितारोधी व्यवहारों का परीक्षण करने और न्यायनिर्णयन करने के लिए आवश्यक उपबंध और धार मौजूद हों।'' प्रतियोगिता अधिनियम, 2002 के संदर्भ में इस कथन का परीक्षण और मूल्यांकन कीजिए। 

(ख) “पर्यावरणीय विधानों के बावजूद, पर्यावरणीय अपराधों के उत्थान का कारण दंडादेश करने की पर्याप्त दंडात्मक विधियों की अनुपस्थिति है।' चर्चा कीजिए।

8. (क) “संपत्ति का संक्रांत करना और माल का परिदान करना, दो भिन्न संकल्पनाएं हैं।" माल विक्रय अधिनियम के उपबंधों और निर्णयजन्य विधि की सहायता से स्पष्ट कीजिए। 

(ख) सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 के अधीन अंकीय हस्ताक्षर का सुनिश्चित करना क्या होता है ? प्रमाणकर्ता प्राधिकारी की. प्रकटन की ड्यूटी का कथन कीजिए। 

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit