(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा मनोविज्ञान Paper-1 - 2011

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2011 मनोविज्ञान (Paper-1)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए, जो प्रत्येक 100 शब्दों से अधिक में न हो : 

(क) उन कुंजी अभिगृहीतों का वर्णन कीजिए, जिनके आधार पर मनोविज्ञान एक विज्ञान होने का दावा करता है। 

(ख) निम्न आय वर्ग से स्कूल जाने वाले विद्यार्थियों की शैक्षिक उपलब्धि पर प्रतिपूरक शिक्षा के प्रभाव का मूल्यांकन करने के लिए प्रायोगिक अध्ययन की एक योजना सुझाइए। 

(ग) STM और LTM के बीच किन आधारों पर विभेदन किया जाता है? 

(घ) स्मृति-सहायक साधनों के उपयोग का वर्धन करने में कूट लेखन के सिद्धान्त किस प्रकार से सहायता करते हैं? 

(ङ) निषेधात्मक प्रबलन और दण्ड के बीच विभेदन कीजिए। अधिगम के सन्दर्भ में दण्ड की परिसीमाओं का उल्लेख कीजिए। 

(च) प्रत्यक्षीकरण की प्रकृति के सम्बन्ध में भ्रम क्या कुछ बताते 

2. (क) सामाजिक रचनावाद क्या होता है? वह मुख्य धारा मनोविज्ञान को किस प्रकार से चुनौती देता है?

(ख) जैसा कि कुत्तों पर चिरसम्मत प्रयोग द्वारा प्रदर्शित होता है, अधिगतः विवशता के परिणामों पर चर्चा कीजिए। वास्तविक जीवन में उसके समरूपों को मालूम कीजिए।

(ग) मनोवैज्ञानिक अभिलक्षणों के लिए जीन प्ररूप और लक्षण प्ररूप के बीच मस्तिष्क किस प्रकार बीच-बचाव करता है?  

(घ) प्रत्यक्षण की ऊर्ध्वमुखी और अधोमुखी थियोरियों के बीच विषमताएँ बताइए।

3. (क) संकेत संज्ञापन थियोरी, निर्णयन प्रक्रम की किस प्रकार परिकल्पना करती है? उसका अनुप्रयोग मनोविज्ञान के अन्य किन-किन क्षेत्रों में किया जा सकता है? 

(ख) प्रक्रमण का स्तर मॉडल किस प्रकार से बहुसंचयी और कार्यशील स्मृति मॉडलों से भिन्न है? स्पष्ट कीजिए।

4. (क) किशोरावस्था के दौरान पहचान निर्माण में लालन-पालन शैली, समसमूह (पीयर ग्रुप) और मीडिया की भूमिकाओं का समालोचनात्मक मूल्यांकन कीजिए। 

(ख) नियंत्रण, मापन और शिल्पकृतियों के लिए सरोकारों का परीक्षण कीजिए और साथ ही बताइए कि वैज्ञानिक मनोविज्ञान के विकास में वे किन खतरों को सामने ले आते हैं। 

खण्ड-'B'

5. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए, जो प्रत्येक 100 शब्दों से अधिक में न हो : 

(क) आगमनात्मक और निगमनात्मक तर्कना के बीच विभेदन कीजिए और आगमनात्मक तर्कना के प्रति वैज्ञानिकों की अभिरुचि के कारण बताइए।,

(ख) उद्दोलन थियोरी, मानव अभिप्रेरण को किस प्रकार समझाती 

(ग) अन्तर्जात अभिप्रेरण और बहिर्जात अभिप्रेरण के बीच क्या अन्तर है? उदाहरणों की सहायता से स्पष्ट कीजिए।

(घ) हम अपने बारे में जो जानकारी धारण किए रहते हैं, वह किस प्रकार से संगठित और निर्वचित होती है?

(ङ) तरल और क्रिस्टलित बुद्धि के मॉडल की स्पीयरमैन की द्वि-कारक थियोरी के साथ तुलना कीजिए।

(च) संवेगों के क्या-क्या प्रकार्य हैं? 

6. (क) सर्जकता को पहचानने की क्या-क्या कसौटियाँ हैं? कक्षा के परिवेश में अध्यापक किस प्रकार सर्जकता की प्रोन्नति कर सकता है?

(ख) जे० पी० दास द्वारा प्रस्तावित बुद्धि के मॉडल का वर्णन और मूल्यांकन कीजिए। 

7. (क) भाषा, संचार के अन्य रूपों से किस प्रकार भिन्न है? सम्बद्ध अध्ययनों का हवाला देते हुए भाषेतर संचार से भाषा के उपयोग तक बच्चों की प्रगति को लिपिबद्ध कीजिए।

(ख) अन्तःसांस्कृतिक अध्ययनों के उद्धरण देते हुए ‘आत्मन्' की भारतीय और पाश्चात्य व्याख्याओं की तुलना कीजिए और कल्याण के लिए उनके निहितार्थों को उजागर कीजिए। 

8. (क) चेतना अध्ययनों के क्षेत्र में प्रमुख विकासों को विस्तार से स्पष्ट कीजिए और मनोवैज्ञानिक प्रकार्यों पर 'ध्यान' के प्रभाव को बताइए।

(ख) मूल्यों के विभिन्न मनोवैज्ञानिक मापदण्डों का वर्णन कीजिए और स्कूल जाने वाले बच्चों के बीच मूल्यों को विकसित करने के लिए एक कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार कीजिए।

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit