(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा मनोविज्ञान Paper-2 - 2011

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2011 मनोविज्ञान (Paper-2)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए। प्रत्येक उत्तर 200 शब्दों से अधिक में नहीं होना चाहिए : 

(क) मनोवैज्ञानिक परीक्षणों के आधार पर प्रतिभाशाली बच्चों' के चयन प्रक्रम का विवेचन कीजिए। उनकी उचित शिक्षा के लिए अनुशंसाएँ दीजिए। 

(ख) आन्तरिक सुसंगति एवं स्थायित्व गुणाङ्कों की विश्वसनीयता सूचकांक के रूप में आलोचनात्मक समीक्षा कीजिए। 

(ग) विभ्रमात्मक विकार की व्याख्या कीजिए एवं इसकी विभेदक विशिष्टियों को रेखांकित कीजिए। 

2. (क) सकारात्मक मनोविज्ञान आन्दोलन द्वारा स्थापित आत्मनिष्ठ कल्याण के विभिन्न पक्षों का विवेचन कीजिए। 

(ख) विभिन्न प्रकार के अवसादों के उपचार में बेक के संज्ञानात्मक व्यवहार चिकित्सा की प्रभाविकता की आलोचनात्मक समीक्षा कीजिए। 

3. (क) व्यामोहात्मक एवं विदलनात्मक व्यक्तित्व विकारों की व्याख्या कीजिए। 

(ख) प्रक्रियात्मक एवं वितरणात्मक न्याय की तुलना कीजिए एवं कर्मचारियों की अभिप्रेरणा पर इनके प्रभाव को स्पष्ट कीजिए।

4. (क) व्यक्ति-केन्द्रित चिकित्सा की व्याख्या कीजिए एवं उपयुक्त उदाहरणों से इसकी सीमाएँ बताइए। 

(ख) प्रबन्धकीय प्रभाविकता एवं कुशलता में अन्तर बताइए एवं इनको प्रभावित करने वाले कारकों का विवेचन कीजिए। 

खण्ड-'B'

5. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए। प्रत्येक उत्तर 200 शब्दों से अधिक का नहीं होना चाहिए : 

(क) भारतीय संगठनों की प्रासंगिकता के लिए रूपान्तरकारी एवं कार्यसम्पादनकारी नेतृत्वों की तुलना कीजिए। 

(ख) मानसिक स्वास्थ्य के प्रबन्धन में जैविक पुनर्निवेश चिकित्सा की कुशलता का विवेचन कीजिए। 

(ग) स्कूली शिक्षा के दौरान विद्यार्थियों के व्यक्तित्व विकास के लिए मूल्य शिक्षा की आवश्यकता को प्रदर्शित कीजिए। 

6. (क) बेहतर शैक्षिक उपलब्धियों को सुनिश्चित करने के लिए प्रयुक्त स्मृति सुधार उपाय एवं प्रविधियाँ क्या हैं? उनकी विवेचना कीजिए। 

(ख) रूढ़ियों एवं पूर्वाग्रहों के मध्य सम्बन्धों को स्पष्ट कीजिए एवं सामाजिक समेकन में इनके प्रभाव का परीक्षण कीजिए।

7. (क) उपयुक्त उदाहरणों के साथ सूचना प्रविधि, जनसंचार एवं इनके मनोवैज्ञानिक परिणामों के बीच सम्बन्धों को विस्तारित कीजिए। 

(ख) क्या प्रवंचन अभिप्रेरणा का एक स्रोत हो सकता है? दीर्घकालिक वंचन के निषेधात्मक परिणामों के निवारण के लिए प्रासंगिक मनोवैज्ञानिक उपार्यों की विवेचना कीजिए। 30 

8. (क) खिलाड़ियों (ऐथ्लीटों) के प्रशिक्षण में 'मानसिक एवं पेशीय' अभ्यास की भूमिका का परीक्षण कीजिए।

(ख) भारतीय समाज में लैंगिक अभिनतियों के प्रबन्धन की चुनौतियों का विवेचन कीजिए।

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit