I-DAY  Offer

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा राजनीति विज्ञान Paper-1- 2017

UPSC CIVIL SEVA AYOG


संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा

(Download) UPSC IAS Mains Exam 2017

(POLITICAL SCIENCE) राजनीति विज्ञान (Paper-1)


Exam Name: UPSC IAS Mains Political Science (राजनीति विज्ञान) (Paper-1)

Marks: 250

Time Allowed: 3 Hours

खण्ड A

प्रश्न 1. निम्नलिखित प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में टिप्पणी कीजिए :

a. श्री अरविन्द के अनुसार भारत के लिए अपने निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति हेतु स्वराज एक आवश्यक शर्त हैं।
b. राज्य का नव-उदारवादी दृष्टिकोण।
c. उत्तरवर्ती-आधुनिकतावाद।
d. पारिस्थितिक (इको)-नारीवाद
e. हॉब्स की राजनीतिक बाध्यता की धारणा।

प्रश्न 2.

a. रॉल्स का न्याय सिद्धांत संविदागत एवं वितरक दोनों ही हैं। परिक्षण कीजिये।
b. असमनता सर्वत्र क्रांति का एक कारण है - अरस्तु। टिप्पणी कीजिये।
c. समाजवाद को परिभाषित कीजिये। फेबियन के समाजवाद की मुख्य विशेषताओं की विवेचना कीजिये।

प्रश्न 3.

a. बहुसंस्कृतिवाद से आप क्या समझते हैं ? बहुसंस्कृतिवाद पर भीखू पारेख के विचारो की विवेचना कीजिये।
b.सहभागिता के बिना विमर्शी लोकतंत्र का महत्त्व नहीं हैं तथा विमर्श के बिना सहभागी लोकतंत्र विशवसनीय नहीं हैं. टिप्पणी कीजिये।
c. स्वतन्त्र और मुक्ति में भेद कीजिये। स्वतंत्रता पर मार्क्स की धरना की विवेचना कीजिये।

प्रश्न 4.

a. राजनीतिक लोकतंत्र जीवित नहीं रह सकता यदि सामाजिक लोकतंत्र उसका आधार न हो - बी.आर.अम्बेडकर। टिप्पणी कीजिये।
b. इतिहास का अंत सम्बन्धी वादविवाद पर एक संक्षिप्त टिपण्णी लिखिए।
c. राजयतंत्र की धारणा से आप क्या समझते हैं ? कौटिल्य द्वारा प्रतिपादित राजयतंत्र के सिद्धांत की विवेचना कीजिये।

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit

खण्ड B

प्रश्न 5. निम्नलिखित प्रत्येक पर लगभग 150 शब्दों में टिप्पणी कीजिए :

a. महात्मा गाँधी की सफलता राजनीतिक तथा गैर-राजनीतिक, दोनों ही आंदोलनों को एक एकीकृत राष्ट्रवादी आंदोलन में परिवर्तित करने में सत्रिहित थी।
b. निजता का अधिकार जीवन के अधिकार का अतरंग भाग हैं।
c. भारतीय संघ सहयोगशील संघ से प्रतिस्पर्थी संघ की और अग्रसर हुआ हैं।
d. भारत में चुनावी लोकतंत्र के सशक्तिकरण में राज्य आर्थिक सहायता/निधीयन एक प्रभावी साधन हो सकता हैं।
e. उत्तरवर्ती-उदारीकरण युग में भारतीय राजनीति परंपरागत/श्रेय देने की राजनीती से विकासात्मक राजनीती की और अग्रसर हो रही हैं।

प्रश्न 6.

a. संसदीय सर्वोच्ता तथा संसदीय सम्प्रभुता में अंतर स्पष्ट कीजिए। क्या आप भारतीय संसद को एक संप्रभु संसद मानेंगे? परिक्षण कीजिए।
b. क्या 73वें सांविधानिक संशोधन ने भारत में पंचायतो में महिलाओ को सशक्त किया हैं? विवेचना कीजिये।
c. भारतीय राजनीती में धर्म अभी भी एक महत्वपूर्ण कारक हैं। विवेचना कीजिये।

प्रश्न 7.

a. भारत 'एक-दलीय प्रभावी पद्धति' से 'एक-दाल निर्देशित गठबंधन' की और अग्रसर हुआ हैं। विवेचना कीजिये।
b. भारत का राष्ट्रपति कैसे निर्वाचित होता हैं ? भारतीय राष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल की मुख्य विशेषताओ को रेखांकित कीजिये।
c. भारत में अल्पसंख्यको के अधिकारों को संरक्षित,संवर्धित और सुरक्षित रखने में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की भूमिका का परिक्षण कीजिए।

प्रश्न 8.

a. हाल के वर्षो में न्यायपालिका ने विधायिका एवं कार्यपालिका, दोनों की भूमिका को अपना लिया हैं। उपयुक्त उदाहरणों के साथ परिक्षण कीजिए।
b. हरित क्रांति से आप क्या समझते हैं ? क्या आप सोचते हैं कि समकालींन भारत में कृषिक चुनौतियों के पर्याप्त निराकरण हेतु एक द्वितीय हरित क्रांति की आवश्यकता हैं ? परीक्षण कीजिए।
c. उद्देश्यों एवं साधनो की दृष्टि से उदारवादी राष्ट्रवाद और उग्रवादी/युयुत्सु (आतंकवादी) राष्ट्रवाद में अंतर स्पष्ट कीजिए।

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit

<< Go Back to Main Page