(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान Paper-1 - 2019

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2019 पशुपालन एवं पशुचिकित्सा विज्ञान (Paper-1)

खण्ड ‘A’

1. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए : 

(a) वयस्क पशुओं में रखरखाव हेतु ऊर्जा की आवश्यकताएँ निर्धारण करने की पद्धतियों का वर्णन कीजिए। 

(b) डेयरी उद्यम शुरू करने से पहले डेयरी योजना की आवश्यकता क्यों पड़ती है? योजना से संबंधित विभिन्न चरणों की व्याख्या कीजिए। 

(c) पुनर्संयोजक (रिकॉम्बीनेन्ट) डी० एन० ए० तकनीकी तथा इसके उपयोगों की व्याख्या कीजिए। 

(d) अण्डाशय के लक्षण सहित गाय में सत्य मदहीनता (ट्र ऐनइस्ट्रस) को परिभाषित कीजिए तथा इस समस्या के प्रबंधन के सामरिक उपाय का वर्णन कीजिए। 

(e) गाय के दाहिने अगले पैर की शिरा में एक रेडियोलेबेल्ड पदार्थ इंजेक्ट किया गया तथा कुछ समय पश्चात् यह पदार्थ बायें अगले पैर की धमनी में पाया गया। इस पदार्थ के मार्ग को सिर्फ रेखाचित्र द्वारा दर्शाइए। 

2. (a) मेमनों का पालन-पोषण महत्त्वपूर्ण क्यों है? लाभप्रद मांस उत्पादन के लिए मेमनों के पालन-पोषण की अच्छी पद्धतियों की व्याख्या कीजिए। 

(b) अम्ल-क्षार संतुलन से आप क्या समझते हैं? वृक्क द्वारा इसके नियमितीकरण की व्याख्या कीजिए। 

(c) 'हे' बनाने की विभिन्न विधियों का वर्णन कीजिए। 'हे' बनाते समय होने वाले पोषक तत्त्वों के नुकसानों एवं उनकी रोकथाम के उपायों का उल्लेख कीजिए। 

3. (a) अधिक दूध देने वाले पशुओं में दुग्धस्रवण की विभिन्न अवस्थाओं के दौरान पोषण विधियों का योजनाबद्ध वर्णन कीजिए।

(b) शूकरी में गर्भकाल व प्रसव के दौरान देखभाल व प्रबंधन की प्रक्रियाओं की व्याख्या कीजिए। नवजात शिशुओं (पिग्लेट) के जीवन दर को बढ़ाने के लिए क्या सावधानियाँ रखनी चाहिए?

(c) प्रतिवर्त उद्दीपन (रिफ्लेक्स स्टिमुलेशन) द्वारा दुधारू पशुओं में दूध उतरने की क्रिया का सचित्र वर्णन कीजिए। 

4. (a) वीर्य गुणवत्ता के महत्त्व का विवेचन कीजिए तथा इसके मूल्यांकन से संबंधित परीक्षणों को सूचीबद्ध कीजिए। 'सर्वाइकल म्यूकस पेनिट्रेशन टेस्ट' का विस्तार से वर्णन कीजिए।

(b) जनसंख्या में विभिन्नता के विभिन्न स्रोतों की व्याख्या कीजिए। विभिन्नता (घटकों के अनुसार) के पड़ने वाले प्रभाव का वर्णन कीजिए। 

(c) भारत में चल रहे विभिन्न भेड़ विकास कार्यक्रमों की सूची दीजिए। इन कार्यक्रमों को लागू करने में क्या बाधाएँ हैं तथा इन बाधाओं को कैसे दूर करेंगे? 

खण्ड-'B'

5. निम्नलिखित के उत्तर दीजिए : 

(a) जुगाली करने वाले पशुओं के आहार में नॉन-प्रोटीन नाइट्रोजन (एन० पी० एन०) पदार्थों के गुणकारी उपयोग को प्रभावित करने वाले कारकों की व्याख्या कीजिए।

(b) विभिन्न जननांगों (नर व मादा) द्वारा स्रावित होने वाले विविध हॉर्मोनों को सूचीबद्ध कीजिए। उनकी प्रकृति, स्रोत एवं मुख्य कार्यों को लिखिए। 

(c) निम्नलिखित फार्म उत्पादन अभिलेखों के मानकीकरण की व्याख्या कीजिए : 

(i) एफ० सी० एम०

(ii) आयु में संशोधन

(ii) दुग्धस्राव-काल

(iv) दोहन बारम्बारता में संशोधन 

(d) भारत में प्रसार शिक्षा के सिद्धांतों की व्याख्या कीजिए। 

(e) भारत में दुधारू पशुओं के संकरीकरण कार्यक्रम के अनुभवों की व्याख्या कीजिए। 

6. (a) मुर्गी के अण्डे के विभिन्न अवयवों के बनने की क्रिया तथा उनकी संरचना की व्याख्या कीजिए। अण्डा बनने में होने वाली विभिन्न असामान्यताओं को सूचीबद्ध कीजिए। 

(b) साँड़ के वीर्य के अतिहिमीकरण में प्रयोग होने वाले आदर्श तनूकारक के गुणों को सूचीबद्ध कीजिए तथा इसमें प्रयोग होने वाले ट्रीस नामक तनूकारक की संरचना (कॉम्पोजिशन) लिखिए। 

(c) खनिज लवणों का वर्गीकरण कीजिए तथा कैल्सियम, फॉस्फोरस एवं विटामिन D की अस्थि-निर्माण में भूमिका का वर्णन कीजिए। 

7. (a) साँड़ की अतिरिक्त लिंग ग्रंथियों को सूचीबद्ध कीजिए तथा वीर्य में शुक्राशय ग्रंथि के योगदान का वर्णन कीजिए। 

(b) वयस्क खरगोश के खान-पान की व्याख्या कीजिए। आहार के रेशों को खरगोश कैसे उपयोग में लाता है? 

(c) प्रजनन दक्षता क्या है और इसे किस प्रकार से मापा जा सकता है? 

8. (a) दी गई सूचनाओं के आधार पर तनूकरण गुणांक (डाइल्यूशन फैक्टर) तथा तनूकारक की मात्रा की गणना कीजिए : 

(i) स्खलित वीर्य की मात्रा–5 ml

(ii) प्रगतिशील (प्रोग्रेसिव) शुक्राणु गतिशीलता-80%

(iii) शुक्राणु सांद्रता-1000 x 106/ml

(iv) वीर्य के हिमीकरण हेतु मिनी फ्रेन्च स्ट्रॉ का उपयोग 

(b) वंशगतित्व (हेरिटेबिलिटी) क्या है? वंशगतित्व की उपयोगिताओं सहित इसके मुख्य गुणों की व्याख्या कीजिए। 

(c) निम्नलिखित पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए : 

(i) जैविक मूल्य

(ii) प्रजनन-योग्य वराह की पोषण व्यवस्था

(ii) आवश्यक अमीनो अम्ल सूचक (ई० ए० ए० आइ०)

(iv) पाच्यता निर्धारण के लिए संकेतकों का उपयोग 

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit