(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा कृषि Paper-2 - 2020

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2020 कृषि (Paper-2)

खण्ड ‘A’

Q1. निम्नलिखित प्रश्नों में से प्रत्येक का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए : 

(a) निम्नलिखित में विभेद कीजिए : 

(i) उपजातीय (वैराइटल) बीज उत्पादन एवं संकर बीज उत्पादन

(ii) परम्परागत एवं आण्विक प्रजनन 

(b) समूह वरण (मास सिलेक्शन) क्या है ? पादप किस्मों के सुधार में इसके अनुप्रयोगों पर चर्चा कीजिए।

(c) पादपों द्वारा पोषक-तत्त्वों के अवशोषण हेतु उत्तरदायी कारकों की गणना कीजिए । पोषक-तत्त्वों के अवशोषण की क्रियाविधि की व्याख्या कीजिए।

(d) संश्लेषित (सिंथेटिक) किस्म को परिभाषित कीजिए । संश्लेषित किस्मों के उत्पादन में सम्मिलित प्रचालनों पर चर्चा कीजिए।

(e) निम्नलिखित शीर्षकों के अन्तर्गत गुणसूत्र का वर्णन कीजिए : 

(i) गुणसूत्र संख्या

(ii) गुणसूत्रों के रासायनिक घटक

(iii) वर्णकणिका (क्रोमोमियर)

(iv) Y गुणसूत्र 

Q2. (a) स्व-असंगतता एवं इसकी क्रियाविधि की व्याख्या कीजिए । पादप प्रजनन में स्व-असंगतता की प्रासंगिकता पर चर्चा कीजिए।

(b) 'बीज गुणवत्ता' शब्द से आप क्या समझते हैं ? बीज गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के लिए। नियमन और प्रमाणीकरण प्रणालियों का वर्णन कीजिए।

(c) विभिन्न प्रकार के संरचनात्मक गुणसूत्री विपथनों की उनके प्रकारों के साथ परिगणना कीजिए । व्युत्क्रमण-प्रकार के संरचनात्मक विपथन का विस्तृत विवरण दीजिए।

Q3. (a) पौधा किस्म और कृषक अधिकार संरक्षण अधिनियम, 2001 की व्याख्या कीजिए । इस अधिनियम के अन्तर्गत किसानों, प्रजनकों और स्वदेशी संपत्ति अधिकारों को प्रदान किए गए संरक्षण का विवरण दीजिए।

(b) उत्परिवर्तन प्रजनन (म्यूटेशन ब्रीडिंग) के अनुप्रयोगों का वर्णन कीजिए । पादप प्रजनन की इस पद्धति की सीमाओं पर भी चर्चा कीजिए । 

(c) फ़सल सुधार में आण्विक चिह्नकों (मार्कर्स) और मार्कर-सहायक चयन की भूमिका का वर्णन कीजिए।

Q4. (a) पादप पोषण को परिभाषित कीजिए । पादपों के लिए आवश्यक और लाभकारी पोषक-तत्त्वों का भारतीय मृदाओं में उनके स्तर के साथ विवरण दीजिए। 

(b) 'आनुवंशिक रूप से रूपांतरित फ़सलीय पादपों से आप क्या समझते हैं ? कीट-पीड़कों, रोगों तथा खरपतवारों के प्रबंधन में उनके उपयोगों का विवरण दीजिए। 

(c) निम्नलिखित पर संक्षिप्त टिप्पणियाँ लिखिए :

(i) लिंग-सहलग्नता

(ii) द्विजीन विनिमय

(iii) अलिंगसूत्र (ऑटोसोम)

(iv) कोशिकाद्रव्यीय नर बंध्यता 

(v) असुगुणित (एन्यूप्लॉयड्स) 

'खण्ड -B' 

Q5. निम्नलिखित प्रश्नों में से प्रत्येक का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए : 

(a) निम्नलिखित के बीच विभेद कीजिए : 

(i) पादप हॉर्मोन और संश्लेषित पादप-वृद्धि नियंत्रक

(ii) C और C पादप 

(b) फ़सलों की वृद्धि और परिवर्धन पर सूखे और लवण प्रतिबल के प्रभावों का संक्षिप्त विवरण दीजिए।

(c) शरीरक्रियात्मक विकारों (फ़िज़ियोलॉजिकल डिस्ऑर्डर्स) से क्या अभिप्राय है ? आलू के शरीरक्रियात्मक विकारों का वर्णन कीजिए ।

(d) शहरों में छत-बाग़वानी के अवसर और महत्त्व की विवेचना कीजिए । 

(e) भारत में कुपोषण के प्रबन्धन में पोषकीय-खाद्यान्नों (न्यूट्री-सिरियल्स) की भूमिका का विवेचन कीजिए। 

Q6. (a) लक्षित पीड़कों (टारगेट पेस्ट्स) के अनुरूप पीड़कनाशियों का वर्गीकरण कीजिए । भारत में पीड़कनाशी खपत की प्रवृत्ति का वर्णन कीजिए ।

(b) आम की खेती का वर्णन प्रवर्धन, अन्तर-सस्यन, द्वि-वार्षिक फलन, फल गिरने और काले शीर्ष (ब्लैक-टिप) का संदर्भ देते हुए कीजिए। 

(c) सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पी.डी.एस.) क्या है तथा इसके उद्देश्य क्या हैं ? लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली पी.डी.एस. संबंधी समस्याओं पर कैसे काबू पाती है ?

Q7. (a) भारत में खाद्य उत्पादन की प्रमुख बाधाएँ क्या हैं ? राष्ट्रीय खाद्य नीति धारणीय खाद्य सुरक्षा में कैसे मदद करेगी ? 

(b) पादप रोगों के जैविक तथा अजैविक कारणों को सूचीबद्ध कीजिए । रोगों तथा लक्षण प्रकारों से प्रभावित प्रमुख शरीरक्रियात्मक प्रक्रमों के वर्गीकरण का विवरण दीजिए। 

(c) पादप वृद्धि नियंत्रकों की परिभाषा दीजिए । उपयुक्त उदाहरणों के साथ उनके अनुप्रयोगों का विवरण दीजिए। 

Q8. (a) जलवायु और मृदा, बुवाई का समय और पोषक-तत्त्व, जल और कटाई-पश्चात प्रबन्धन के संदर्भ में टमाटर की खेती का संक्षिप्त विवरण दीजिए।

(b) कटाई-पश्चात पुष्पों के खराब होने के क्या कारण हैं ? पुष्पों की निधानी-आयु (शेल्फ-आयु) को बढ़ाने के लिए तकनीकों का विवरण दीजिए। 

(c) कृषि उपज की खरीद और विपणन में बाधाओं का सामना करने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का विवरण दीजिए।  

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit