(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा इतिहास Paper-2 - 2020

UPSC CIVIL SEVA AYOG
संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (Download) UPSC IAS Mains Exam 2020 इतिहास (Paper-2)

खण्ड ‘A’

Q1. निम्नलिखित कथनों में से प्रत्येक का लगभग 150 शब्दों में समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए : 10x5-50 

(a) “महाराजा रणजीत सिंह की मृत्यु सन् 1839 में हुई थी । उनकी मृत्यु पूरे पंजाब के लिए अराजकता के विस्फोट का संकेत था ।” 10 

(b) “अपने प्रारम्भिक चरणों में जब भारतीय राष्ट्रवाद अपरिपक्व था तथा अभी-अभी अंकुरित मात्र ही था, इसने अपनी अभिव्यक्ति अनेकों उदार धार्मिक-सुधार आन्दोलनों से प्राप्त की।" 10 

(c)"20वीं शताब्दी के प्रारम्भ में अनेकों स्त्री संगठन अस्तित्व में आए जिन्होंने जन क्षेत्र में बहुत सक्रियता से कार्य किया तथा अपना ध्यान अधिक प्रत्यक्षता से स्त्रियों के राजनीतिक तथा कानूनी अधिकारों पर केन्द्रित किया ।”10 

(d) "भारत में ट्रेड यूनियन आन्दोलन ने महत्त्वपूर्ण पड़ावों पर न केवल राष्ट्रीय संघर्ष के आह्वान का समर्थन किया वरन् अनेक मार्गों से इसके विषय तथा स्वरूप को भी प्रभावित किया ।” 10 

(e)“भारतीय नेताओं से अपने वार्तालाप तथा अपने मत के आधार पर लॉर्ड माउण्टबैटन शीघ्र इस निष्कर्ष पर पहुँचे कि विभाजन ही एकमात्र व्यावहारिक तथा यथोचित समाधान था ।”10 

Q2. (a) “डूप्ले ने पहली बार भारतीय राजाओं के आपसी विवादों में हस्तक्षेप का मार्ग प्रशस्त करके विस्तृत राज्य क्षेत्रों पर राजनीतिक नियन्त्रण प्राप्त किया - इस तकनीक को बाद में अंग्रेज़ी ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने निपुणता के साथ उपयोग किया ।” सविस्तार व्याख्या कीजिए ।20 

(b) 1857 के विद्रोह को एक लम्बे समय तक बंगाल की सेना के भारतीय सिपाहियों का गदर मात्र समझा जाता रहा । उसके कारणों की खोज केवल सेना के असन्तोष के रूप में ही न करके वरन् उस मूलभूत सामाजिक और आर्थिक परिवर्तन की लम्बी प्रक्रिया में की जानी चाहिए जिसने कृषक समुदायों को परेशान कर दिया । विवेचना कीजिए। 20

(c) क्या आपके मतानुसार भारत में 1857 से पूर्व हुआ 1855 – 56 का संथाल हूल (विद्रोह) सबसे प्रभावशाली जनजातीय आन्दोलन था ? 

Q3. (a) अपने आरम्भिक काल में राजनीतिक व्यवहार की दृष्टि से भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस कभी भी एक आमूल परिवर्तनवादी संगठन नहीं रहा, साथ ही संस्थापकों ने काँग्रेस की स्थापना में ए.ओ. ह्यूम को भी शामिल किया था । क्या ये तथ्य इस बात की पुष्टि करते हैं कि काँग्रेस की स्थापना एक सुरक्षा वाल्व' के रूप में की गई थी ? स्पष्ट कीजिए। 20

(b) क्या आप इस तथ्य से सहमत हैं कि असहयोग आन्दोलन की परोक्ष असफलता तथा राष्ट्रवादी परिदृश्य पर छायी उदासी ने क्रान्तिकारी गतिविधियों के लिए परिस्थितियों का निर्माण किया ? विवेचना कीजिए। 

(c) योजना को उस शक्तिशाली औज़ार के रूप में देखा गया जिसके उपयोग से क्षेत्रीय असमानता को समाप्त किया जा सकता था । परीक्षण कीजिए । 20 

Q4. (a) “भारतीय राजनीति के विभाजित तथा विवादास्पद क्षेत्र में गाँधीजी अपने लिए एक मध्यवर्ती स्थिति का दावा कर सके क्योंकि उन्होंने किसी को अलग नहीं किया बल्कि युक्तिपूर्वक नरमपंथियों के लक्ष्य को गरमपंथियों के साधनों से जोड़ दिया ।” विवेचना कीजिए । 20 

(b) “भारतीय स्वतंत्रता के पश्चात् भारत-चीन सम्बन्ध बहुत गरमजोशी के साथ शुरू हुए, परन्तु आने वाले वर्षों में भारत को चीनी आक्रामकता के कड़वे अनुभव का सामना करना पड़ा ।” सविस्तार व्याख्या कीजिए । 20 

(c) "भाषाई आधार पर राज्यों का पुनर्गठन राष्ट्रीय सुदृढ़ीकरण तथा एकीकरण का प्रमुख पहलू था ।” टिप्पणी कीजिए। 

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री
UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit

खण्ड 'B' 

Q5. निम्नलिखित कथनों में से प्रत्येक का लगभग 150 शब्दों में समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए : 10x5=50 

(a) "प्रबोधन के सिद्धान्त कुछ प्रकार से वैज्ञानिक क्रान्ति की खोजों तथा सिद्धान्तों का विस्तार थे।" 10 

(b) “सन् 1789 की फ्रांस की क्रान्ति के कारणों में दीर्घकालिक तथा ढाँचागत कारणों के साथ-साथ तत्कालीन घटनाएँ भी शामिल थीं।” 10 

(c) "असैम्बली लाइन कारखानों, शहरीकरण तथा शहरी मज़दूर वर्ग के उदय के साथ औद्योगिक क्रान्ति के दूरगामी सामाजिक तथा राजनीतिक परिणाम हुए ।” 

(d) "नए आज़ाद हुए देशों के बाहुल्य को 'तृतीय विश्व' के रूप में जाना गया जो न तो प्रथम विश्व के पूँजीवादी लोकतन्त्र थे, और ना ही दूसरे विश्व के साम्यवादी देशों से सम्बन्धित थे।" 10 

(e) “मई 1948 में, अंग्रेज़ों ने फिलीस्तीन से हटना शुरू करना था, और उस दिन के लिए दोनों पक्षों ने तैयारी की थी। अरबों तथा यहूदियों के मध्य जातीय हिंसा और भड़क गई।” 

Q6. (a) , “नेपोलियन स्वयं एक क्रान्तिकारी नहीं था परन्तु उसने 1789 से 1791 के मध्य हुए अनेकों क्रान्तिकारी परिवर्तनों को सुदृढ़ता प्रदान की तथा उसने स्वयं प्रबोधन चिंतकों के अनेकों विचारों तथा प्रस्तावों का समर्थन किया ।” सिद्ध कीजिए । 20 

(b) “लिंकन की मुख्य अभिधारणा थी कि दासप्रथा के मुद्दे का किसी न किसी रूप में निर्णय करना होगा तथा इसे समझौतों द्वारा अधिक समय तक टाला नहीं जा सकता ।” अमरीकी गृह युद्ध में लिंकन की भूमिका के संदर्भ में टिप्पणी प्रस्तुत कीजिए।20 

(c) “सन् 1848 की क्रान्तियों ने यूरोपीय राजाओं को भयभीत कर दिया तथा उनमें से अनेकों को पद छोड़ना पड़ा । जो बचे रहे उन्हें उदारवाद, राष्ट्रवाद तथा समाजवाद जनित धमकियों का ज्ञान था ।” टिप्पणी कीजिए। 10 

Q7. (a) “बिस्मार्क का रक्त तथा लोहे का भाषण तथा जर्मनी के एकीकरण में उसके द्वारा किए गए शक्तिशाली कार्यों ने बिस्मार्क को लौह चांसलर (Iron Chancellor) के रूप में विख्यात कर दिया ।” समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए। 20 

(b) क्या आप इस कथन से सहमत हैं कि द्वितीय विश्व युद्ध इतिहास का सबसे विध्वंसक युद्ध था ? सविस्तार व्याख्या कीजिए । 20 

(c) उन परिस्थितियों की विवेचना कीजिए जिनके कारण सन् 1962 में फ्रांस को अल्जीरिया छोड़ना पड़ा था। 10 

Q8. (a) स्टालिन ने किस प्रकार लेनिन की विरासत बॉल्शेविक क्रान्ति को आगे बढ़ाया तथा सर्वसत्तावाद के नए तत्त्वों को जोड़कर सोवियत संघ (यू.एस.एस.आर.) को एक महाशक्ति बना दिया ? 20 

(b) शीत युद्ध की समाप्ति के पश्चात् विश्व राजनीति में एक नए शक्ति समीकरण का उदय हुआ । विश्लेषण कीजिए कि किस प्रकार संयुक्त राज्य अमरीका (यू.एस.ए.) एकमात्र महाशक्ति बन गया। 20 

(c) आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए कि क्या यह कहना उचित होगा कि एक शताब्दी तक यूरोपियों पर निर्भरता के कारण अफ्रीकी राष्ट्र-निर्माण के कार्य के लिए भली-भांति तैयार नहीं थे। 10

Click Here to Download PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 11 YEARS SOLVED PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS HISTORY 10 Years Categorised PAPERS

Study Noted for UPSC MAINS HISTORY Optional

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit