(Download) IAS (Main) Hindi Optional Paper - III : 2011

Union Public Service Commission
IAS Main Hindi Optional Paper - III

1. निम्नलिखित में से किन्हीं तीन पर टिप्पण्यिा लिखें।
(क) प्रगतिवाद का राजनीतिक अभिलक्षण
(ख) हिन्दी की पहली कहानी
(ग) अमीर खुसरो
(घ) यशणल के उपन्यासों का केन्द्रीय तथ्य
2. (क) सूफी काव्य की प्रवृत्तियों का उल्लेख करते हुए, इसके दार्शनिक पक्ष को स्पष्ट करें।
(ख) आदिकालीन साहित्य को ‘वीरगाथा साहित्य’ कहना क्यों उचित नहीं है? स्पष्ट कीजिए।

3. सूरदास के काव्य का निबंधन निम्न बिन्दुओं पर कीजिए।
(क) दर्शन
(ख) भाषा
(ग) काव्य-सौन्दर्य

4. आलोचना सिद्धांन्तों की व्याकरण करते हुए आचार्य रामचंद्र शुक्ल के हिन्दी आलोचना में योगदान को रेखांकित कीजिए।

5. (क) प्रयोगवाद किस प्रकार अपनी पूर्ववर्ती प्रवृत्तियों से भिन्न है? स्पष्ट कीजिए।
(ख) अमरकांत की कहानियाँ समाज वे$ यथार्थ का आईना है। उनकी कहानियों के आधार पर तत्कालीन समाज की पड़ताल कीजिए।

6. (क) जयशंकर प्रसाद के नाटकों के केन्द्रीय भावों को स्पष्ट करते हुए तत्कालीन राजनीतिक प्रवृत्तियों के नाटकों पर प्रभाव को स्पष्ट कीजिए।
(ख) भारतेन्दु के नाटकों का अभिलक्षण स्पष्ट कीजिए तथा उनके प्रतिपाध को लिखिए।

7. (क) छायावाद एक ओर युग क्रांति का वाहक था, तो दूसरी ओर युगीन परम्पराओं से निकलने का द्वन्द्व। स्पष्ट कीजिए।
(ख) प्रगतिवाद माक्र्सवाद की लेखनी है। क्या आप इससे सहमत हैं?

8. नाटक में अभिनेयता क्यों जरूरी है? प्रसाद तथा मोहन राकेश के नाटकों की अभिनियेता किस प्रकार रंगमंच को प्रभावित करती है?

For Study Materials Call Us at +91 8800734161 (MON-SAT 11AM-7PM)