(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (चिकित्सा-विज्ञान) Paper-1- 2017


संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा
(Download) UPSC IAS Mains Exam Paper - 2017 : चिकित्सा-विज्ञान (Paper - 1)


चिकित्सा-विज्ञान
(प्रश्न पत्र - I)

निर्धारित समय : तीन घंटे

अधिकतम अंक : 250

प्रश्न-पत्र सम्बन्धी विशेष अनुदेश

कृपया प्रश्नों के उत्तर देने से पूर्व निम्नलिखित प्रत्येक अनुदेश को ध्यानपूर्वक पढ़े :

इसमें आठ (8) प्रश्न हैं जो दो खण्डों में विभाजित हैं तथा हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों में छपे हैं ।

परीक्षार्थी को कुल पाँच प्रश्नों के उत्तर देने हैं।

प्रश्न संख्या 1 और 5 अनिवार्य हैं तथा बाकी में प्रत्येक खण्ड से कम-से-कम एक प्रश्न चुनकर किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर दीजिए । प्रत्येक प्रश्न/भाग के अंक उसके सामने दिए गए हैं ।

प्रश्नों के उत्तर उसी प्राधिकृत माध्यम में लिखे जाने चाहिए जिसका उल्लेख आपके प्रवेश-पत्र में किया गया है, और इस माध्यम का स्पष्ट उल्लेख प्रश्न-सह-उत्तर (क्यू.सी.ए.) पुस्तिका के मुख-पृष्ठ पर निर्दिष्ट स्थान पर किया जाना चाहिए । प्राधिकृत माध्यम के अतिरिक्त अन्य किसी माध्यम में लिखे गए उत्तर पर कोई अंक नहीं मिलेंगे।

प्रश्नों में शब्द सीमा, जहाँ विनिर्दिष्ट है, का अनुसरण किया जाना चाहिए ।

जहाँ आवश्यक हो, आरेख / चित्र उत्तर के लिए दिए गए स्थान में ही दर्शाइए ।

प्रश्नों के उत्तरों की गणना क्रमानुसार की जाएगी । यदि काटा नहीं हो, तो प्रश्न के उत्तर की गणना की जाएगी चाहे वह उत्तर अंशतः दिया गया हो । प्रश्न-सह-उत्तर पुस्तिका में खाली छोड़ा हुआ पृष्ठ या उसके अंश को स्पष्ट रूप से काटा जाना चाहिए ।

खण्ड - A

Q1. (a) शव संलेपन के बारे में संक्षेप में लिखिए ।
(b) फेफड़ों के कोशिकीय अवयवों का सूक्ष्मदर्शीय वर्णन कीजिए । साथ ही फीटल डिस्ट्रेस संलक्षण पर टिप्पणी भी लिखिए ।
(c) जिह्वा के अवयव परिवर्धन एवं तंत्रिका वितरण का वर्णन कीजिए ।
(d) मेरु-अनुमस्तिष्क के प्रकार्यों का वर्णन कीजिए ।
(e) यकृत्-पूर्व, यकृत् और यकृत्-पश्च पीलिया के रोगियों के रक्त एवं मूत्र में की जाने वाली विभिन्न जैव-रासायनिक जाँचों को सारणीबद्ध कीजिए ।

Q2. (a) हमारे शरीर में लोहे का अवशोषण, परिवहन एवं भण्डारण कैसे होता है, वर्णन कीजिए । शरीर में लोहे की स्थिति के मूल्यांकन के लिए किए जाने वाले विभिन्न परीक्षणों को बताइए ।
(b) (i) भ्रूण, गर्भ और वयस्कों में लोहित कोशिकाओं के निर्माण स्थलों को गिनाइए ।
(ii) लोहित कोशिकाजनन की अवधि में कोशिकाद्रव्य एवं केन्द्रक में होने वाले अभिलाक्षणिक परिवर्तनों का वर्णन कीजिए ।

(c) (i) पर्युदर्या परावर्तन के संबंध में यकृत् अवकाशों का सविस्तार वर्णन कीजिए । साथ ही इसके अनुप्रयुक्त महत्त्व पर टिप्पणी भी लिखिए ।
(ii) मस्तिष्कं स्तंभ में रक्त संभरण का वर्णन कीजिए और साथ ही इसके अनुप्रयुक्त महत्त्व | पर टिप्पणी भी लिखिए ।

Q3. (a) (i) ऐच्छिक कार्यों में आधारी गंडिका के प्रकार्यों का वर्णन कीजिए।
(ii) आधारी गडिका और प्राथमिक प्रांतस्था के प्रकार्यों की तुलना कीजिए ।

(b) मूत्राशय के स्थूल शारीर, तंत्रिकायन एवं अनुप्रयुक्त महत्त्व का वर्णन कीजिए । साथ ही स्वसंचालित मूत्राशय पर टिप्पणी भी लिखिए ।
(c) 'पॉलिमरेज़ चेन प्रतिक्रिया (पी.सी.आर.)' प्रौद्योगिकी के सिद्धान्त की विवेचना कीजिए एवं इसमें सम्मिलित चरणों की रूपरेखा प्रस्तुत कीजिए। इसका चिकित्सकीय अनुप्रयोग भी लिखिए ।

Q4. (a) (i) निम्नलिखित शीर्षकों के अंतर्गत स्कन्ध-संधि का वर्णन कीजिए :

I. गति
II. रक्त संभरण
III. स्नायु

(ii) चोट से नीली हुई आँख (ब्लैक आय) का शारीरी आधार बताइए ।

(b) (i) रेखाचित्र द्वारा स्तनपायी प्रतिवर्त को दर्शाइए । एस्ट्रोजन के सकारात्मक एवं नकारात्मक पुनर्निबेशन प्रकार्यों का वर्णन कीजिए ।
(ii) रक्तदाब के नियमन में दाबग्राही प्रतिवर्त क्रियाविधि का वर्णन कीजिए।

(c) बिटामिन डी एक हॉर्मोन हैं इस कथन को सिद्ध कीजिए । विटामिन डी का संश्लेषण, क्रियाविधि एवं शरीरक्रियात्मक कार्यों का वर्णन कीजिए ।

खण्ड़ - B

Q5. (a) अर्बुद को परिभाषित कीजिए । सुदम एवं दुर्दम अर्बुद के बीच पाँच विभेदों को सूचीबद्ध कीजिए।
(b) मलेरिया के जानपदिक-रोग-विज्ञान की चुनौतियों एवं नियंत्रण उपायों की व्याख्या कीजिए । इसके प्रयोगशाला निदान की चर्चा कीजिए।
(c) पैरासिटामॉल की तीव्र विषाक्तता का, उसकी विषालुता की क्रियाविधि तथा उसके उपचार पर बल देते हुए चर्चा कीजिए ।
(d) फेफड़े में प्राथमिक-पश्च (द्वितीयक) यक्ष्मा के स्थूल एवं सूक्ष्मदर्शीय स्वरूप का वर्णन कीजिए ।
(e) आप कैसे आकलन करेंगे कि क्षति भारतीय दण्ड संहिता के धारा 320 के अंतर्गत घोर उपहति है। उदाहरणों सहित व्याख्या कीजिए।

Q6. (a) (i) तीव्र प्रफली स्तवकवृक्कशोथ के स्थूल एवं सूक्ष्मदर्शीय अभिलक्षणों का वर्णन कीजए ।
(ii) पट्टकी कोशिका गर्भाशयग्रीवा कार्सिनोमा के हेतु-रोगजनन का संक्षेप में वर्णन कीजिए ।

(b) सल्फोनामाइडों की क्रियाविधि का वर्णन कीजिए । साथ ही इसके विरुद्ध प्रतिरोध उत्पन्न करने हेतु जीवाणु कौन-सी विधियाँ अपनाते हैं, उनका भी वर्णन कीजिए ।
(c) (i) अंत:क्रमणक कैंडिडा के संक्रमण के लिए उत्तरदायी कारक कौन-से हैं ? रक्त वाहिका कैंडिडा संक्रमण के प्रयोगशाला निदान का संक्षेप में वर्णन कीजिए ।
(ii) अवसरवादी कबक (दो) एवं परजीवी (दो) कारकों के नाम लिखिए जो एच.आई.वी. (HIV) रोगी में संक्रमण उत्पन्न करते हैं। उनमें से किसी एक के प्रयोगशाला निदान का बर्णन कीजिए।

Q7. (a) एक 16-वर्षीय लड़की को पुलिस द्वारा तथाकथित बलात्कार के इतिहास के साथ चिकित्सीय परीक्षण के लिए अस्पताल लाया गया है । चिकित्सा अधिकारी उसका परीक्षण किस प्रकार शुरू करेगा ? विभिन्न संभावित नैदानिक लक्षणों का वर्णन कीजिए | उस लड़की पर बलात्कार किया गया है अथवा नहीं यह स्थापित करने के लिए किस प्रकार की सामग्न (नमूना) को सुरक्षित रखा जाएगा ?
(b) साइनाइड विषाक्तता के प्रकरण में नैदानिक लक्षणों, प्रबंधन व शव-परीक्षा के जाँच-परिणामों की विवेचना कीजिए।
(c) निम्नलिखित के कारण स्पष्ट कीजिए :

(i) बीटा ब्लॉकरों का वैरापेमिल के साथ प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए ।
(ii) फोलिनिक ऐसिद्ध का मिथोट्रेक्सेट के साथ प्रयोग किया जाता है ।
(iii) वृक्कजनक डायबिटीज़ इसीपिड्स में थायज़ाइड उपयोगी होते हैं ।

Q8. (a) (i) आंत्र ज्वर के रोगजनन की बिबेचना कीजिए । वे कौन-सी विभिन्न क्रियाविधियाँ हैं। जिनके द्वारा साल्मोनेला प्रतिसूक्ष्मजीवी प्रतिरोध प्राप्त करता है ?
(ii) प्रतिरक्षात्मक सह्यता को परिभाषित कीजिए तथा स्वप्रतिरक्षा में इसकी भूमिका की एक उदाहरण देते हुए चर्चा कीजिए।

(b) एक 40-वर्षीय चिरकाली मदात्ययी पुरुष जलोदर, प्लीहा-अतिवृद्धि, पीलिया एवं रक्तवमन (हीमेटेमेसिस) के सहित अपने को प्रस्तुत करता है ।

(i) यकृत् में संभावित रोग क्या हो सकता है ?
(ii) रक्तवमन (हीमेटेमेसिस) का क्या कारण है ?
(iii) इस प्रकरण में यकृत् के स्थूल एवं सूक्ष्मदर्शीय अभिलक्षणों का वर्णन कीजिए।

(c) निम्नलिखित की क्रियाविधि, उपयोगों तथा अनुषंगी प्रभावों की संक्षेप में विवेचना कीजिए :

(i) ग्निजिओफुल्विन
(ii) सल्फोनिलयूरिया
(iii) जेन्टामाइसिन

Click Here to Download PDF

Printed Study Material for IAS Mains General Studies

UPSC सामान्य अध्ययन प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा (Combo) Study Kit

सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री (GS Mains Study Kit)

<< Go Back to Main Page

For Study Materials Call Us at +91 8800734161 (MON-SAT 11AM-7PM)