(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा लोक प्रशासन Paper-1- 2017

UPSC CIVIL SEVA AYOG


संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा
(Download) UPSC IAS Mains Exam 2017
(PUBLIC ADMINISTRATION ) लोक प्रशासन(Paper-1)


Exam Name: UPSC IAS Mains PUBLIC ADMINISTRATION (लोक प्रशासन) (Paper-1)

Marks: 250

Time Allowed: 3 Hours

खण्ड - A

प्रश्न 1. निम्नलिखित में से प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए :

(a) "अपने प्रकाशन के 130 वर्ष के पश्चात भी, वुडरो विल्सन का लेख 'दि स्टडी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन' आज भी अपनी उच्च प्रासंगिकता लिए हुए है | टिप्पणी कीजिए |
(b) ''प्रशासन की क्लासिकी तथा मानवीय संबंधो की विचारपद्धतियों की विशिष्टता दोनों की पारस्परिक पूरकता है | '' विश्लेषण कीजिए |
(c) '' विरोधिता भिन्नताओं --- मतों एवं हितो में भिन्नताओं का प्रकटीकरण है'' ---- (मैरी पार्कर फोलेट ) टिप्पणी कीजिये |
(d) ' नेता सही कार्य करते है ; प्रबंधक उन्हें सही ढंग से करते है'' ---- ( वारेन बैनीस ) क्या उसके द्धारा यह विभेद तर्कसंगत है ? स्पष्ट कीजिये
(e) '' प्रशासनिक विधि की पहचान उसके स्वरुप के बजाय उसकी विषय - सामग्री से की जाती है '' चर्चा कीजिए |

प्रश्न 2.

(a) कतिपय विद्वानों ने नव लोक प्रबंधक को 'नव-टेलरवाद' की संज्ञा दी है | क्या यह एक उचित तुलना है ? नव लोक प्रबंधन के जन्म के बाद इतने कम समय में इसका पतन किन कारको के कारण हुआ है ?
(b) ''अब्राहम मैस्लो के 'आवश्यकता सोपान' और फ़्रेडरिक हर्ज़बर्ग की 'द्विकारक थियोरी' के बीच मानवीय अभिप्रेरण के विश्लेषण में समानताएं है | '' टिप्पणी कीजिये |
(c) सिविल समाज राज्य के पूरक एवं अनुपूरक होता है | फिर भी उसकी क्षमता एवं भूमिका राज्य की इच्छा पर निर्भर करती है | टिप्पणी कीजिये |

प्रश्न 3.

(a) आर्गिरिस तथा लिकर्ट की सहभागी प्रबंधन की विचारपद्धति प्रशासनिक तंत्र के भीतर लोकतंत्र के पक्ष में तर्क करती है | क्या यह उपागम विकामन लोकतंत्रो के साथ विकासशील - देशो के लिए बराबर का उपयोगी होगा | |
(b) '' कार्यकारी पदों का निहितार्थ एक जटिल नैतिकता होना होता है और उनके लिए उत्तरदायित्व की एक उच्च क्षमता की आवश्यकता होती है '' ---- (चेस्टर बर्नार्ड ) | टिप्पणी कीजिये |
(c) जब मिडिया ही निहित - स्वार्थो के द्धारा नियंत्रित हो, तो वह सरकार के भीतर निहित स्वार्थो पर किस प्रकार नियंत्रण कर सकता है ? मिडिया और अधिक उत्तरदायी तथा निष्पक्ष किस प्रकार बन सकता है ?

प्रश्न 4.

(a) '' लोक प्रशासन के अनुप्रयुक्त जगत में हुए प्रत्येक मुख्य रूपांतरण के साथ ही लोक प्रशासन के अध्ययन की परिधि तथा गहनता में संवृद्धि हुई है | '' लोक प्रशासन के विषय के विकास और लोक प्रशासन के संव्यवसाय के बीच संबंध पर चर्चा कीजिए |
(b) तंत्र सिद्धांतो तत्वतः एक  थियोरी नहीं है, किन्तु प्रशासनिक सवृत्तियों के अध्ययन का एक उपागम है | ''टिप्पणी कीजिए |
(c) '' प्रत्यायोजन विधान का सिद्धांत, मेरे विचार में उचित है, किन्तु मै यह जोर देकर कहना चाहता हूँ की संसद के लिए उपयुक्त रहेगा कि वह सभी अवस्थाओं पर सतर्कतापूर्ण एवं उत्साहपूर्ण निगरानी बनाए रखे '' ------ (हर्बर्ट मॉरिसन ) | विश्लेषण कीजिए |

Public Administration for UPSC Mains Exams Study Kit

Printed Study Material for IAS PRE cum Mains General Studies

खण्ड - B

प्रश्न 5. निम्नलिखित में से प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिये :

(a) '' बजटन एक राजनीतिक प्रक्रम है'' ---- ( एरन विल्डॉस्की  ) | परीक्षण कीजिए |
(b) '' विकास प्रशासन तथा प्रशासनिक विकास के बीच मुर्गी तथा अंडे का संबंध है (रिग्ज) | सविस्तार स्पष्ट कीजिए |
(c) '' डिजिटलीकरण ई-शासन (ई-गवर्नेंस) को अत्यधिक प्रोत्साहन प्रदान करता है | '' चर्चा कीजिए |
(d) ''360o निष्पादन मूल्यांकन पद्धति एक तर्कसंगत विचार है किन्तु इसमें जटिल और अप्रमाणिक कार्यविधियाँ शामिल होती है | इसको दोष रहित किस प्रकार बनाया जा सकता है ?
(e) '' बृहत सार्वजनिक ॠण ऐसी कराधान एवं व्ययन नीतियों को अपनाने के लिए बाध्य करता है जिनका परिणाम उच्तर करो तथा न्यूनीकृत सेवाओं के रूप में होता है '' विश्लेषण कीजिए |

प्रश्न 6.

(a) '' उदीकरण निजीकरण तथा वैश्वीकरण ने विकास प्रशासन की प्रकृति को रूपान्तरित कर दिया है '' चर्चा कीजिये |
(b) सरकार में सक्षम विशेषज्ञों का पार्श्विक प्रवेश (लैटरल एन्ट्री ) ताजगी तथा नवाचार को बढ़ावा देगा किन्तु यह जवाबदेही की समस्याओ को भी जन्म दे सकता है चर्चा कीजिये |
(c) निष्पादन बजटन के बिना निष्पादन लेखापरीक्षण हो ही नहीं सकता है | सुस्पष्ट कीजिए |

प्रश्न 7.

(a) '' सयोजति - प्रिज्मीय विवर्तित समाजो के रिग्जीय मॉडल और उनकी प्रशासनिक प्रणालियाँ पारंपरिक चमत्कारी विधिक- युक्तिसंगत प्राधिकारों के मैक्स बेबर के प्ररूपविज्ञान के द्वारा प्रेरित हुई है '' विश्लेषण कीजिए |
(b) लोकतांत्रिक देश में बहु-मुखी  विकास के मुख्य उत्प्रेरक के रूप में कार्य करने में अधिकारीतंत्र की अंतनिर्मित सीमाएं है | उपयुक्त उदाहरणों सहित इस कथन का विश्लेषण कीजिए |
(c) क्या हम यह कह सकते है की क़ानूनी लोखापरीक्षा तथा सामाजिक लोकपरीक्षा एक सिक्के के दो पहलू है ? अथवा क्या वे भिन्न भिन्न मूल्यों के दो पृथक सिक्के है ? चर्चा कीजिए |

प्रश्न 8.

(a) मानव संसाधन प्रबंधन के विभिन्न घटक परस्पर संबद्ध  है '' चर्चा कीजिए |
(b) '' प्रशासनिक नैतिकता ,में लोक सेवको की आचरण सहित शामिल है किन्तु यह उसके परे भी जाती है विवेचना कीजिये |
(c) '' लोक निति ,में शामिल सभी प्रक्रमों में कार्यान्वयन सर्वाधिक महत्वपूर्ण है '' निति कार्यान्वयन में बाधाओं का परीक्षण कीजिए |

Click Here to Download PDF

Public Administration for UPSC Mains Exams Study Kit

Printed Study Material for IAS PRE cum Mains General Studies

<< Go Back to Main Page