trainee5's blog

(Getting Started) Mahak Swami's Self Study Strategy AIR-393



(Getting Started) Mahak Swami's Self Study Strategy AIR-393



Mahak Swami, currently undergoing training as a Haryana Civil Service officer, has secured an all-India rank of 393 in UPSC Civil Services 2019. Hailing from Kurukshetra, both her parents are school teachers by profession. She is an Electronics and Communication Engineer from the National Institute of Technology, Kurukshetra, the batch of 2013. This was her 4th attempt. Her seniors in Haryana services have praised her hard work in these tough times of COVID.

Why Civil Services?

Mahak, like many others, after a few years in the private sector started thinking of what she wanted to do hereon. She decided the Software industry, although challenging, was not her cup of tea. Instead, with her aptitude towards social sciences and interest in contributing more directly to social causes, she zeroed in on Civil Services as her goal.

Why Choose Self-Study?

Mahak spoke to a few of her acquaintances who were preparing for the services. She realised that with the recent changes in the pattern in UPSC as well as the easily available online courses and study material, self-study was the most comfortable way for her to reach her goal. She happily quips that she never even felt the need to go to coaching and self-studying proved fruitful enough for her journey.

How To Approach Self-Study?

Mahak relied heavily on the internet for her preparation. She started by reading toppers' strategies. When she started her preparation, and she relied heavily on them. She does regret not having a mentor figure as she made mistakes in choosing sources as well initially without someone to guide her. But thankfully, it all worked out for the better.

Problems Faced During Preparation

One of the main problems Mahak faced was choosing the right sources. Her sources were very scattered which she believes hindered her preparation. Funnily enough, Mahak did not ever read newspapers. She always studied summaries. But in the beginning, she struggled with finding the right current affairs material.

Tips From Mahak's Experience

  • Notes making – Mahak is a big believer in notemaking. She never followed a single source for anything. As a result, her notes were always her primary source of study. She even made notes from the answers she wrote for her mains mocks. She did the same for her prelims mocks.
  • Ethics – Mahak followed sample notes by Shreyas Mag, one of the previous year's toppers. She started writing small and crisp definition. She started using examples from the Indian context such as History, Mythology, Current Affairs, etc. She highly recommends using such localised examples over western and bookish examples.
  • Essay – As long as you have prepared well for your General Studies papers, you will always have content. The trick to the essay paper is structuring the content you have and not letting the flow of writing dissolve. Also, do not waste time. You get one and a half hours for each essay and you must stick to this time. This is why Mahak highly recommends practicing writing essays frequently during your preparation.

  • Test Series – Mahak believes time management is the main skill you learn in mocks and writing 20 broad answers in 3 hours is not a joke. Always note the feedback and try to use them in improving your future answers.

Mahak's Optional Strategy

Mahak started her journey with Laxmikanth. It was interesting to her which is why she chose this topic. She learned Shubhra Ranjan's notes by heart and added current affairs tidbits to them. Rajya Sabha TV and India's World were two programs where eminent diplomats and scholars would come for discussions and Mahak used those discussions as fodder for her preparation. Again, the topper's strategies are very important according to her.

Message To Aspirants

Mahak advises all aspirants to minimize distractions and maximize effort in their preparation. Make a routine, make goals, and stick to them. As long as your heart is in it, you will most definitely succeed.

You have to dream before your dreams can come true - APJ Abdul Kalam |  Mowval Quotes | Latest Quotes | Famous Quotes

CLICK HERE TO DOWNLOAD UPSC TOPPERS NOTES

Printed Study Material for UPSC IAS Exams

Online Coaching for IAS PRELIMS Exam

<<Go Back To Main Page

(Books) Old NCERT Books : India's Struggle for Independence: 1857-1947



(Books) Old NCERT Books : India's Struggle for Independence: 1857-1947



India's struggle for independence

India’s struggle for Independence by Bipin Chandra is your go to book for an in-depth and detailed overview on Indian independence movement . Indian freedom struggle is one of the most important parts of its history. A lot has been written and said about it, but there still remains a gap. Rarely do we get to hear accounts of the independence from the entire country and not just one region at one place. This book fits in perfectly in this gap and also provides a narration on the impact this movement had on the people. Bipin Chandra’s book is a well-documented history of India's freedom struggle against the British rule. It is one of the most accurate books which have been painstakingly written after thorough research based on legal and valid verbal and written sources. It maps the first war of independence that started with Mangal Pandey’s mutiny and witnessed the gallant effort of Sri Rani Laxmi Bai. Many of the pages of this book are dedicated to Mahatma Gandhi’s non-cooperation and the civil disobedience movements. It contains detailed description of Subash Chandra Bose’s weapon heavy tactics and his charisma. This book includes all the independence movements and fights, irrespective of their size and impact, covering India in its entirety. Although these movements varied in means and ideas, but they shared a common goal of independence. This book contains oral and written narratives from different parts of the country, making this book historically rich and diverse. The book captures the evolution of Indian independence struggle in full detail and leaves no chapter of this story untouched. This book is a good read for the students of Indian modern history and especially for students who are preparing for UPSC examination and have taken History as their subject. This book is easily available online and you can purchase it at Amazon.in now

About the author

Bipin Chandra was one of the most respected historians of our times. Between 2004 and 2012, he was the chairman of National Book Trust. Economic and political history of India was his area of specialization. He was also one of the leading authorities on Mahatma Gandhi. The author also remained the General President of National History Congress 1985. He was a professor at JNU, New Delhi and also taught at Hindu College. Some of his other works included The Rise and Growth of Economic Nationalism.

Book Details : 

  • ASIN : 0140107819
  • Publisher : Penguin Random House India; 1st edition (9 August 2016); Penguin India
  • Language: : English
  • Paperback : 600 pages
  • ISBN-10 : 9780140107814
  • ISBN-13 : 978-0140107814

Click Here to Buy From Amzon

NEW! OLD NCERT BOOKS Study Notes For UPSC Exams

Gist of NCERT Books Study Kit For UPSC Exams

Online Coaching for UPSC PRE Exam

General Studies Pre. Cum Mains Study Materials

(Books) Old NCERT Books : A Brief History of Modern India (2019-2020 Edition)



(Books) Old NCERT Books : A Brief History of Modern India (2019-2020 Edition)



This book brings together various aspects of the turbulent period (from arrival of the Europeans on Indian soil and the establishment of British rule in India to the day India won independence and the early years of freedom) in a systematic and succinct manner: major and important details and milestones are effectively discussed while several relevant but little known details are also highlighted.It is not just the mainstream freedom struggle that has been considered; the disparate efforts—small but significant— of several groups have also been discussed. The political and socio-economic developments that have influenced the growth of modern India have been dealt with in independent chapters.

Book Details : 

  • Publisher : Spectrum Books Pvt.Ltd.; Kalpana Rajaram edition (1 January 2019)
  • Language: : English
  • Paperback : 848 pages
  • ISBN-10 : 8179307212
  • ISBN-13 : 978-8179307212

Click Here to Buy From Amzon

NEW! OLD NCERT BOOKS Study Notes For UPSC Exams

Gist of NCERT Books Study Kit For UPSC Exams

Online Coaching for UPSC PRE Exam

General Studies Pre. Cum Mains Study Materials

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा 2020 - मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन (GS) Paper-4, नीति,अखंडता एवं अभिक्षमता

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा



(Download) UPSC Mains 2020 General Studies Question Paper: 

सामान्य अध्ययन-IV (नीति,अखंडता एवं अभिक्षमता) 



  • Exam Name: UPSC IAS Mains General Studies (सामान्य अध्ययन-4) (Paper-4)

  • Year: 2020

Q.1-

(A). व्यापक राष्ट्रीय शक्ति (सी.एन.पी.) के तीन मुख्य घटक टका जैसे मानवीय पैजी, मद शक्ति (संस्कृति और नीतिया) तथा सामाजिक सदभाव की अभिवृद्धि में नीति शास्त्र  और मूल्यों की भूमिका का विवेचन कीजिए।
(B). "शिक्षा एक निषेधाज्ञा नहीं है. यह व्यक्ति के समग्र विकास और सामाजिक बदलाव के लिए प्रभावी और व्यापक साधन है। उपरोक्त कथन के आलोक में नई शिक्षा नीति,2000 (एन.ई.पी.,2000) का परीक्षण कीजिए ।

Q.2-

(A). "घृणा व्यक्ति की बुद्धिमत्ता और अन्त:करण के लिए संहारक है जो राष्ट्र के चित को विषाक्त कर सकती है? अपने उत्तर की तर्कसंगत व्याख्या करें ।
(B). संवेगात्मक बुद्धि के मुख्य घटक क्या है? क्या उन्हें सीखा जा सकता है? विवेचना कीजिए।

Q.3-

(A). बुद्ध की कौन सी शिक्षाएं आज सर्वाधिक प्रासंगिक हैं और क्यों ? विवेचना कीजिए ।
(B). 'शक्ति की इच्छा विद्यमान है, लेकिन विवेकशीलता और नैतिक कर्त्तव्य के सिद्धातों से उसे साधित और निर्देशित किया जा सकता है। अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्धों के संदर्भ में इस कथन का परीक्षण कीजिए।

Q.4-

(A). विधि और नियम के बीच विभेदन कीजिए | इनके सूत्रीकरण में नीति-शान की भमिका का जिसे कीजिए।
(B) सकारात्मक अभिवृत्ति एक लोक सेवक की अनिवार्य विशेषता मानी जाती है जिसे प्रायः नितान्त दबाव में कार्य करना पड़ता है। एक व्यक्ति की सकारात्मक अभिवृत्ति में क्या योगदान देता है।

Q.5-

(A). भारत में सैगिक असमानता के लिए कौन से मख्य कारक उत्तरदायी है उस संदर्भ में सावित्रीबाई फले के योगदान का विवेचन कीजिए । 
(B). "सामयिक इंटरनेट विस्तारण ने सांस्कृतिक मूल्यों के एक भिन्न समूह को मनासीन किया है, जो प्रायः परम्परागत मूल्यों से संघर्षशील रहते हैं। विवेचना कीजिए।

Q.6- निम्नलिखित में से प्रत्येक उद्धरण का आपके विचार से ज्या अभिप्राय है?
(A). "किसी की मत्सना नहीं कीजिए : अगार. आप मदद का हाथ आगे बढ़ा सकते है, तो एमा कीजिए। यदि नहीं तो आप हाय जोडिए, अपने बंधुओं को आशीर्वचन दीजिए और उन्हें अपने मार्ग पर जाने दीजिए.।" - स्वामी विवेकानंद
(B). "स्वयं को खोजने का सर्वोत्तम मार्ग यह है कि अपने आप को अन्य की सेवा में खो दें। - महात्मा गांधी
(C). "नैतिकता की एक बदस्था जो कि मापेक्ष भावनात्मक मृत्यों पर आधारित है केवल एक मांत्ति है, एक अत्यंत अशिष्ट अवधारणा जिसमें कुछ भी युक्तिसंगत नहीं है और न ही सच। -सुकरात

Q.7- राजेश कुमार एक वरिष्ठ लोक सेवक हैं जिनकी ईमानदारी और स्पष्टवादिता की प्रतिष्ठा भामुख है। आजकाल वित्त मंत्रालय के बजट मन्त्रालय के बजट विभाग के प्रमुख है। वर्तमान में उनका विभाग राज्यों को बजी सहायता की व्यवस्था करने में व्यस्त  हैं। जिनमे से चार राज्यों में इसी वित्तीय वर्ष में चुनाव होने वाले है।
इस वर्ष एक वार्षिक बजर ने राष्ट्रीय आवास योजना योजना (एन.एच.एस.) को 8300 करोड़ रुपये आवंटित किए थे। यह समाज के कमजोर समूहो के लिए लिए केंद्र प्रायोजित सामाजिक आवास योजना है। जून माह तक 775 करोड़ रुपये एन.एच.एस.हेतु ली गई है। 
निर्यात को बढ़ावा देने के लिए बाणिज्य मंत्रालय काफी समय से एक दक्षिणी राज्य में विशेष आर्थिक जोन (एस.ई.जेड) स्थापित करने की पैरवी कर रहा है। केंद्र और राज्य के मध्य दो वर्षों तक चली विस्तृत चर्चा के बाद अगस्त माह में केंद्र मंत्रिमंडल में इस योजना की स्वीकृति प्रदान कर दी। आवश्यक भूमि प्राप्त करने के लिए प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई। 
अट्ठारह माह पूर्व एक उत्तरी राज्य में क्षेत्रीय गैस ग्रिड के लिए एक प्रमख सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई ने विशाल गैस प्रसंस्करण संयंत्र स्थापित करने की आवश्यकता बताई थी। सार्वजनिक क्षेत्र की इकाई (पी.एस.पू.) के पास आवश्यक भूमि पहले से ही है। राष्ट्रीय ऊर्जा सरक्षा व्यूहरचना में यह गैस ग्रिड एक अनिवार्य घटक है। वीश्वक बोली (जलोबल बिडिंग) के तीन चरणों के बाद इस योजना को एक बहराष्ट्रीय उद्योग (एम. एक बहुराष्ट्रीय उद्योग (एम सीमर्स एक्स वाई जेड हाइड्रोकार्बन का आबाटत किया गया । दिसम्बर में इस बहराष्ट्रीय उद्योग को भुगतान का की पहेली क़िस्त देना निर्धारित है।
इन दो विकास योजनाओं को समय से 6000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि आबंटित करने के लिए वित्त मंत्रालय को कहा गया । यह निर्णय 
लिया गया कि परी राशि एन.एच.एस. आबटन में स पुनर्विनियोजित करने की संस्तुति की जाए । फाइल को समीक्षा और अग्रिम कार्यवाही के लिए बजट विभाग को प्रेषित कर दिया गया । फाइल का अध्ययन करने पर राजेश कुमार को यह आभास हुआ कि पुनाबनियोजन करने से एन.एच.एस. योजना को क्रियान्वित करने में अत्यधिक बिलम्ब हो सकता है, वरिष्ठ राजनेताओं के द्वारा आयोजित सभाओं में इस योजना की काफी चर्चा हुई थी। दूसरी ओर वित्त की अनुपलब्धता से एस.ई.जेड. में वित्तीय क्षति होगी और अंतर्राष्ट्रीय योजना में विलम्बित भुगतान से राष्ट्रीय शर्मिंदगी भी। 
राजेशा कुमार ने इस प्रसंग पर अपने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया। उन्हें बताया गया कि राजनीतिक रूप से इस संवेदनशील स्थिति पर तुरंत कार्यवाही होनी चाहिए। राजेश कुमार ने महसूस किया कि एन.एच.एस. योजना से राशि के विपथन पर सरकार के लिए संसद में कठिन प्रश्न खड़े हो सकते हैं। 
इस प्रसंग के संदर्भ में निम्नलिखित का विवेचन कीजिए : 
कल्याणकारी योजना से विकास योजना में राशि के पुनर्विनियोजन में निहित नीतिपरक मुद्दे । 
सार्वजनिक राशि के उचित उपयोग की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए, राजेश कुमार के समक्ष उपलब्ध विकल्पों का विवेचन कीजिए। क्या पदत्याग एक योग्य विकल्प है?

Q.8-

भारत मिसाईल लिमिटेड (बी.एम.एल.) के अध्यक्ष टीवी पर एक कार्यक्रम देख रहे थे जिसमें प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत के विकास की आवश्यकता पर राष्ट्र को सम्बोधित कर रहे थे। अवचेतन रूप में उन्होंने हामी भरी और मन ही मन मुस्कुराते हुए बी.एम.एल. की विगत दो दशकों की यात्रा की मानसिक पुनर्समीक्षा की । प्रथम पीढी (फर्स्ट जेनरेशन) की एण्टी-टैक गाईडड मिसाईल (ए.टी.जी.एम.) के उत्पादन में प्रशंसनीय रूप से आगे बढ़ कर बी.एम.एल. अब अत्याधुनिक तकनीक पर आधारित ए.टी.जी.एम. हथियार प्रणालियों के डिजाइन और उनका 
पाटन कर रहा था जो विश्व की किसी भी सेना के लिए ईष्या का कारण होगें । आह भरते हए उन्होंने अपनी इस पर्वधारणा के साथ समझौता किया कि संभवतया सरकार सैनिक हथियारों के निर्यात पर प्रतिबंध की यथास्थिति को नहीं बदलेगी।' 
उन्हें आश्चर्य हुआ कि अगले ही दिन महानिदेशक, रक्षा मंत्रालय से बी.एम.एल. द्वारा ए.टी.जी.एम, के उत्पादन में वृद्धि करने की रीतियों पर चर्चा करने के लिए उन्हें फोन आया क्योकि समावना है कि एक मित्र विदेशी देश को उनका निर्यात किया जा सकता है। महानिदेशक चाहते  थे कि अध्यक्ष अगले सप्ताह दिल्ली में जन उनके अधिकारियों से विस्तृत चर्चा करें। 
दो दिन बाद, एक संवाददाता सम्मेलन में, रक्षामंत्री ने कहा कि अगले पांच वर्षों में बे वर्तमान हथियार निर्यात स्तरों को दोगुना करने का ध्येय रखते है । यह देशज हथियारों के विकास और निर्माण के वित्तपोषण को प्रोत्साहन देगा।  उन्होंने यह भी कहा कि सभी देशज हथियार निर्माता राष्ट्री का अंतर्राष्ट्रीय हथियार व्यापार में बड़ा अच्छा रिकॉर्ड है। 
बी.एम.एल. के अध्यक्ष के रूप में निम्नलिखित बिंदुओं पर आपके क्या विचार हैं : 

(a) हथियार निर्यातक के रूप में भारत जैसे उत्तरदायी नीतिपरक मुद्दे क्या है ?
(b) विदेशी सरकारों को हथियारों के विक्रय संबंधी निर्णय को प्रभावित करने वाले पांच नीतिपरक कारणों को सूचीबद्ध कीजिये।

Q.9-  रामपुरा, एक सुदर जनजाति बहल जिला, अत्यधिक पिछड़ेपन और दयनीय निर्धनता से ग्रसित है । कृषि स्थानीय आबादी की आजीविका का मुख्य साधन है लेकिन बहुत छोटे भूस्वामित्व के कारण यह मुख्यतया निर्वाह-खेती तक सीमित है । औद्योगिक या खनन गतिविधियां यहाँ नगण्य हैं । यहाँ तक कि लक्ष्यित कल्याणकारी कार्यक्रमों से भी जनजाति आबादी को अपर्याप्त लाभ हुआ है। इस प्रतिबंधित परिदृश्य में, पारिवारिक आय के अनुपूरण हेतु युवाओं को समीप स्थित राज्यों में पलायन वारना पड़ रहा है। अवयस्क लड़कियों की व्यथा यह है कि श्रमिक ठेकेदार उनके माता-पिता को बहला फुसला कर उन्हें एक नजदीक राज्य में बी.टी. कपास फार्मों में काम करने भेज देते हैं। इन अवयस्क लड़कियों की कोमल अंगुलियां कपास चुनने के लिए अधिक उपयुक्त होती है। इन फामाँ में रहने और काम करने की अपर्याप्त स्थितियों के कारण अवयस्क लड़कियों के लिए गंभीर स्वास्थ्य समस्याएँ पैदा हो गई है । मूल निवास और कपास फामों के जिलों में स्वयंसेवी संगठन भी नियमावी लगते हैं और उन्होंने क्षेत्र के बाल श्रम और विकास की दोहरी समस्याओं हेतु कोई ठोस प्रयास नहीं किए है। 
आप को रामपुरा का जिला कलेक्टर नियक्त किया जाता है। यहाँ निहित नीतिपरक मुद्दों की पहचान कीजिए। अपने जिले के सम्पूर्ण आर्थिक परिदृश्य को सुधारने और अवयस्क लड़कियों की स्थितियों में सुधार लाने के लिए आप क्या विशिष्ट कदम उठायेंगे?

Q.10- आप एक बड़े नगर के निगम आयुक्त हैं तथा आपकी छबि एक अत्यंत ईमानदार और कर्त्तव्यनिष्ठ अधिकारी की है। आपके नगर में एक विशाल बहुउद्देशीय मॉल निर्माणाधीन है जिसमें बड़ी संख्या में दैनिक मजदुरी पाने वाले श्रमिक कार्यरत हैं । मानसून के दौरान एक रात छत का बड़ा भाग गिर जाता है जिससे चार श्रमिकों की तात्कालिक मृत्यु हो जाती है जिनमें दो अवयस्क हैं। अनेक श्रमिक गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें तत्काल चिकित्सा सेवा की आवश्यकता थी। दुर्घटना से मचे हाहाकार ने सरकार को जांच के आदेश देने हेतु बाध्य किया । 
आपकी प्रारंभिक जाँच में अनेक विसंगतियो का खुलासा हुआ।निर्माण में लाई गई सामग्री निम्न गुणवत्ता की थी। स्वीकृत निर्माण योजना में केवल एक निम्नतम की अनुमति थी लेकिन एक अतिरिक्त निम्नतल का निर्माण कर लिया गया। नगर निगम के इंस्पेक्टर द्वारा समय-समय पर गए निरीक्षण के दौरान इसको देखा गया । अपनी जांच के दौरान आपने पाया कि मास्टर प्लान में उल्लेखित हरित पट्टी व एक अभिगम प्रावधान के बाद भी मॉल के निर्माण को अनुमति प्रदान कर दी गई है। न केवल आपके चरित है और पेशेवर का मित्र भी है। 
प्रथमदृष्ट्या , यह प्रसग नगर निगम के अधिकारियों और निर्माणकर्ता के बीच व्यापक सांठगाठ प्रतीत होता है। आपके सातमी आप पर जान साकी आप पर जान जो मंद गति से करने का दबाव डाल रहे हैं।निर्माणकर्ता, जो कि समृद्ध और प्रभावशाली है राज्य मंत्रिमंडल के एक शक्तिशाली मंत्री का निकट रिश्तेदार है। निमणिकर्ता आपको नहीं राशि देने का वादा कर के प्रसंग को रफादफा करने के लिए बहला फुसला रहा है।वो यह भी इशारा कर रहा है की कि यदि प्रसंग उसका हित में शीघ्र निपटाया नहीं जाता है तो।कार्यालय में कोई आपके विरुद्ध यौन उत्पीड़न कार्यस्थल अधिनियम (पोश एक्ट) के अतर्गत मामला दर्ज करने का इन्तजार कर रही है। 
इस प्रसंग में निहित नीतिपरक मुद्दों का विवेचन कीजिए। इस परिस्थिति में आपके पास स विकल्प उपलब्ध है, आप के द्वारा चयनित क्रियाविधि को स्पष्ट कीजिए। 

Q.11-परमल एक छोटा लेकिन अविकसित जिला है। यहाँ की जमीन पथरीली है जो कृषि योग्य नहीं है, 
माविका कृषि जमीन के छोटे टकड़ों पर की जाती है। क्षेत्र में पर्याप्त वर्षा होती है आर सिंचाई की एक नहर वहाँ से बहती है। अमरिया एक मध्यम श्रेणी का शहर है जो कि इस जिले का प्रशासनिक केंद्र है। यहाँ एक बड़ा जिला अस्पताल, एक औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान और कुछ निजी कौशल प्रशिक्षण केंद्र है। एक जिला मख्यालय की सभी सुविधाएं यहाँ उप्लब्ध है | अमरिया सामग 50 कि.मी. दर एक मख्य रेल्वे लाईन गजरती है। इसकी कमजोर संयोजकता यहां पर कसा मा प्रकार के बड़े उद्योग के अभाव का मख्य कारण है। नए उद्योग को बढावा देने के लिए राज्य सरकार ने 10 वर्षों के लिए करावकाश दे रखा है। 
वर्ष 2010 में, अनिल, एक उद्योगपति ने विभिन्न लामों को लेने के लिए नूरा गाँव में, जो कि अमरिया से 20 कि.मी. दर है, अमरिया प्लास्टिक वर्क्स (ए.पी.डब्ल्य.) स्थापित करने का निर्णय लिया । जिस समय इस फैक्टरी का निर्माण हो रहा था तब अनिल ने आवश्यक मुख्य श्रमिकों को रोजगार दे कर उन्हें अमरिया के कौशल प्रशिक्षण केंद्रों में प्रशिक्षित करवाया । उसके इस कृत्य से मुख्य श्रमिक ए.पी.डब्ल्यू. के प्रति बहुत वफादार हो गए। 
नूरा गाँव से ही सभी श्रमिकों को लेकर ए.पी.डब्ल्यू ने 2011 में उत्पादन प्रारम्भ किया । अपने घरों के पास ही रोजगार प्राप्त कर के गाँव वाले बहुत खुश थे और मुख्य श्रमिकों ने उन्हें उत्पादन के लक्ष्यों को उच्च गुणवत्ता के साथ पूरा करने के लिए प्रेरित किया। ए.पी.डब्ल्यू ने बहुत लाभ कमाना प्रारम्भ किया जिसका एक बड़ा भाग नूरा गाँव में जीवन स्तर को सुधारने के लिए उपयोग में लिया माया | 2016 तक नूरा गाँव एक हरा-भरा गाँव होने का तथा गांव के मंदिर के पुनर्निर्माण पर गर्व कर सकता था। स्थानीय विधायक से संपर्क साध कर अनिल ने अमरिया जाने के लिए गाँव से बस सेवाओं की निरंतरता भी बढ़ा दी । सरकार ने नूरा गाँव में ए.पी.डब्ल्यू. द्वारा निर्मित भवनों में एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और प्राथमिक विद्यालय भी खोल दिया। अपने सी.एस.आर. कोष का उपयोग करते हुए ए.पी.डब्ल्यू ने महिला स्वयं सहायता समूह स्थापित किए, गाँव के बच्चों को प्राथमिक शिक्षा के लिए उपदान प्रदान किया और अपने कर्मचारियों और गरीबों के उपयोग के लिए एक रोगी बाहन प्राप्त किया । 
2019 में ए.पी.डब्ल्यू. में एक छोटी सी आग लगी । चूंकि फैक्टरी में अग्नि शमन सुरक्षा की उपयुक्त व्यवस्था थी इसलिए आग को शीघ्र बुझा दिया गया। जांच में पता चला कि फैक्टरी अपनी अधिकृत क्षमता से अधिक बिजली का उपयोग कर रही थी। इसे शीघ्र ही सुलझा लिया गया। अगले वर्ष, देशव्यापी लाकडाउन के कारण उत्पादन की आवश्यकता में चार महीनों के लिए गिरावट आ गई। अनिल ने निर्णय लिया कि सभी कर्मचारियों को नियमित रूप से भुगतान किया जाएगा। उसने कर्मचारियों को वृक्षरोपण और गांव के प्राकृतिक वास को सुधारने के लिए काम में लिया । 
ए.पी.डब्ल्यू. ने उच्चस्तरीय उत्पादन और अभिप्रेरित श्रमिक बल की ख्याति अर्जित की। 
ए.पी.डब्ल्यू. की कहानी का आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए और अंतर्निहित नीतिपरक मुद्दों का उल्लेख कीजिए | क्या आप ए.पी.डब्ल्यू. को पिछड़े हुए क्षेत्रों के विकास के लिए आदर्श मॉडल के रूप में देखते है ? कारण दीजिए ।

Q.12- गरीय अर्थतंत्र के सहायक श्रमिक बल के रूप में मूक रह कर सेवा प्रदान करते हए, प्रवासी श्रमिक सदैव हमारे समाज के सामाजिक-आर्थिक हाशिये पर रहे हैं। महामारी ने उन्हें राष्ट्रीय केंद्रबिंद पर ला दिया।
देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा से, प्रवासी श्रमिकों की एक बड़ी संख्या ने अपने रोजगार के स्थानों से अपने मूल गाँवों को लौटने का निर्णय लिया । आवागमन की अनपलब्धता ने अपनी समस्याएं खड़ी कही। इसके अलावा अपने परिवारों को मुखमरी और असुविधा का डर भी उन्हें सता रहा था। 
 इसके चलत प्रवासी श्रमिकों ने अपने गाँवों को लौटने के लिए मजदरी और आवागमन का सुविचार मांगी। उनकी मानसिक व्यथा बहु 
कारणों से और भी बढ़ गई जैसे आजीविका का आकस्मिक नुकसान भोजन के अमाव की संभावना और समय पर घर नहीं पहंच पाने से रवि की फसल की कटाई में मदद नहीं करने की असमर्थता । उनकी आशंकाएं ऐसी खबरों से और भी बढ़ गई जिनमें त म कुछ जिलों में रहने और खाने के अपर्याप्त प्रबन्ध के बारे में बताया गया था। 
जब आपका अपने जिले के जिला आपदा मोचन बल की कार्यवाही का संचालन करने की जिम्मेदारी दी गई थी तो इस परिस्थिति से आपने अनेक सबक हासिल किए। आपके मतानुसार सामयिक प्रवासी संकट में क्या नीतिपरक महे उभर कर आए ? एक नीतिपरक सेवा प्रदाता राज्य से आप क्या समझते है? समान परिस्थितियों में प्रवासियों की पीडाओं को कम करने में सम्य समाज क्या सहायता प्रदान कर सकता है?

 

download

DOWNLOAD UPSC मुख्य परीक्षा Main Exam GS सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS 10 Year PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS SOLVED PAPERS PDF

 

(Books) Old NCERT Books : Our Pasts Part - 2 Textbook in History for Class - 7



(Books) Old NCERT Books : Our Pasts Part - 2 Textbook in History for Class - 7



Book Details : 

  • Publisher : National Council of Education Research and Training; 2014th edition (1 January 2014)
  • Language: : English
  • Paperback : 154 pages
  • ISBN-10 : 8174507248
  • ISBN-13 : 978-8174507242

Click Here to Buy From Amzon

NEW! OLD NCERT BOOKS Study Notes For UPSC Exams

Gist of NCERT Books Study Kit For UPSC Exams

Online Coaching for UPSC PRE Exam

General Studies Pre. Cum Mains Study Materials

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा निबंध Paper - 2020

UPSC CIVIL SEVA AYOG



संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा

(Download) UPSC Mains 2020 Question Paper: Essay Compulsory - निबंध 



  • Marks : 250 (125x2)
  • Duration: 3 hours
  • Year : 2020

खंड A और B में प्रत्येक से एक-एक चुनकर, दो निबंध लिखिए जो प्रत्येक लगभग 1000-2000 शब्दों में हो |

Write Two Essays, choosing One from each of the Sections A and B, in about 1000-1200 words each.

Section-A (खंड "A") (125 marks) -  कोई एक चुनें

1. मनुष्य होने और मानव बनने के बीच का लम्बा सफर ही जीवन है ।

2. विचारपरक संकल्प स्वयं के शांतचित्त रहने का उत्प्रेरक है

3. जहाज अपने चारों तरफ के पानी के वजह से नहीं डूबा करते, जहाज पानी के अंदर समा जाने की वजह से डूबते हैं

4. सरलता चरम परिष्करण है


Section-B (खंड "B") (125 marks) - कोई एक चुनें

5. जो हम हैं, वह संस्कार; जो हमारे पास है, वह सभ्यता

6. बिना आर्थिक समृद्धि के सामाजिक न्याय नहीं हो सकता, किन्तु बिना सामाजिक न्याय के आर्थिक समृद्धि निरर्थक है।

7, पितृ-सत्ता की व्यवस्था नजर में बहुत कम आने के बावजूद सामाजिक विषमता की सबसे प्रभावी संरचना है

8. अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में मौन कारक के रूप में प्रौद्योगिकी

DOWNLOAD UPSC मुख्य परीक्षा Main Exam Essay Compulsory (निबंध) प्रश्न-पत्र PDF

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा 2020 - मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन (GS) Paper-3 - प्रौद्यौगिकी,आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा



(Download) UPSC Mains 2020 General Studies Question Paper: 

सामान्य अध्ययन-III (प्रौद्यौगिकी,आर्थिक विकास, जैव-विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन) 



  • Exam Name: UPSC IAS Mains General Studies (सामान्य अध्ययन-3) (Paper-3)

  • Year: 2020

Q1. समावेशी संवृद्धि एवं सपोषणीय विकास के परिप्रेक्ष्य में, आतपीढ़ी एवं अंतपीढ़ी साम्या के विष । परिप्रेक्ष्य में, आंतपदी एवं अंतढिी साम्या के विषयों की व्याख्या कीजिए।  (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q2.  सभात्य स० घ. उस (जी. डी. पी.) को परिभाषित कीजिए तथा उसके निर्धारकों की व्याख्या कीजिए। वे कौन-से कारक है, जो भारत को अपने संभाज्य स. १० उ० (जी. डी. पी०) को साकार करने से रोकते रहे हैं? (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks 

Q3. भारत में कृषि उत्पादों के परिवहन एवं विपणन में मुख्य बाधाएँ गया है।  (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q4.  देश में खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र की चुनौतियाँ एवं अवसर क्या है। खाद्य प्रसंस्करण को प्रोत्साहित कर कृषकों की आय में पर्याप्त वृति कैसे की जा सकती है? (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q5.  नैनोटेक्नोलॉजी से आप क्या समझते हैं और यह स्वास्थ्य क्षेत्र में कैसे मदद कर रहा है?  (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q6. विज्ञान हमारे जीवन में गहराई तक कैसे गुथा हुआ है। विज्ञान-आधारित प्रौद्योगिकियों द्वारा कृषि में उत्पन्न हुए महत्वपूर्ण परिवर्तन किया है (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q7.  पर्यावरण प्रभाव आकलन (ई. आइ० ए०) अधिसूचना, 2020 प्रारूप मौजूदा ई आइ० ए० अधिसूचना, 2006 से कैसे भिन्न है?  (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q8. जल संरक्षण एवं जल सुरक्षा हेतु भारत सरकार द्वारा प्रवर्तित जल शक्ति अभियान की प्रमुख विशेषताएँ क्या है? (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q9. साइबर अपराध के विभिन्न प्रकारों और इस खतरे से लड़ने के आवश्यक उपार्यों की विवेचना कीजिए। (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q10.  प्रभावी सीमावर्ती क्षेत्र प्रबन्धन हेतु हिसाबाबियों को स्थानीय समर्थन से वंचित करने के आवश्यक उपार्यों की विवेचना  कीजिए और स्थानीय लोगों में अनुकूल धारणा प्रबन्धन के तरीके भी सुझाइए। (उत्तर 150 शब्दों में दीजिए) 10 Marks

Q11. एक अर्थव्यवस्था में पूंजी निर्माण के रूप में विनियोग के अर्थ की व्याख्या कीजिए। उन कारकों की विवेचना कीजिए, जिनः  पर एक सार्वजनिक एवं एक निजी निकाय के मध्य रिआयत अनुबन्ध (कॉन्सेशन एग्रिमेन्ट) तैयार करते समय विचार किया जाना चाहिए। (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q12. वस्तु एवं सेवा कर (राज्यों को क्षतिपूर्ति) अधिनियम, 2017 के तापार की व्याख्या कीजिए। कोविड-19 ने कैसे  वस्तु एवं सेवा का क्षतिपूर्ति निधि (जी. एस० टी० कॉम्पेनसेशन फन्ड) को प्रभावित और नये संघीय तनावों को उत्पन्न किया है।  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q13. धान-गेहूँ प्रणाली को सफल बनाने के लिए कौन-से प्रमुख कारक उत्तरदायी है? इस सफलता के बावजूद यह प्रणाली भारत  में अभिशाप कैसे बन गई है?  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q14. रिक्तीकरण परिदृश्य में विवेकी जल उपयोग के लिए जल भंडारण और सिंचाई प्रणाली में सुधार के उपायों को सुझाइए।  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q15. कोविड-19 महामारी ने विश्वभर में अभतपर्व तबाही उत्पन्न की है। तथापि, इस संकट पर विजय पाने के लिए  प्रौद्योगिकीय प्रगति का लाभ स्वेच्छा से लिया जा रहा है। इस महामारी के प्रबन्धन के सहायतार्थ प्रौद्योगिकी की खोज कास की गई, उसका एक विवरण दीजिए।  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q16. पारम्परिक ऊर्जा उत्पादन के विपरीत सूर्य के प्रकाश से विद्यत ऊर्जा प्राप्त करने के लाभों का वर्णन कीजिए। इस प्रयोजनार्थ  हमारी सरकार द्वारा प्रस्तुत पाहल क्या है?  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q17. भारत सरकार द्वारा आरम्भ किए गए राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (एन० सी० ए० पी०) की प्रमुख विशेषताएँ क्या हैं?  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q18. आपदा प्रबन्धन में पूर्ववर्ती प्रतिक्रियात्मक उपागम से हटते हुए भारत सरकार द्वारा आरम्भ किए गए अभिनूतन उपायों की  विवेचना कीजिए।   (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q19.  भारत के पूर्वी भाग में वामपथी उनचाद के निर्धारक क्या है? प्रभावित क्षेत्रों में खतरों के प्रतिकारार्थ भारत सरकार, नागरिक  प्रशासन एवं सुरक्षा बलों को किस सामरिकी को अपनाना चाहिए?  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

Q20. आन्तरिक सुरक्षा खतरों तथा नियन्त्रण रेखा सहित म्यांमार, बांग्लादेश और पाकिस्तान सीमाओं पर सीमा-पार अपराधों का  विश्लेषण कीजिए। विभिन्न सुरक्षा बलों द्वारा इस सन्दर्भ में निभाई गई भूमिका की विवेचना भी कीजिए।  (उत्तर 120 शब्दों में दीजिए) 15 Marks

download

DOWNLOAD UPSC मुख्य परीक्षा Main Exam GS सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS 10 Year PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS SOLVED PAPERS PDF

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा 2020 - मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन (GS) Paper-2 : शासन, संविधान, राज्य-व्यवस्था,सामाजिक न्याय एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा



(Download) UPSC Mains 2020 General Studies Question Paper: 

सामान्य अध्ययन-II (शासन, संविधान, राज्य-व्यवस्था,सामाजिक न्याय एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध) 



  • Exam Name: UPSC IAS Mains General Studies (सामान्य अध्ययन-2) (Paper-2)

  • Year: 2020

Q1. लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के अन्तर्गत प्रष्ट आचरण के दोषी व्यक्तियों को अयोग्य ठहरान। प्रक्रिया के सरलीकरण की आवश्यकता है"। टिप्पणी कीजिए। 10 Marks

Q2. "सचना का अधिकार अधिनियम में किये गये हालिया संशोधन सुचना आयोग की स्वायत्तता और स्वतंत्रता पर गम्भीर प्रभाव डालेंगे। विवेचना कीजिए।10 Marks

Q3. आपके विचार में सहयोग, स्पर्धा एवं संघर्ष ने किस प्रकार से भारत में महासंध को किस सीमा तक आकार दिया है ? अपने उत्तर को प्रमाणित करने के लिए कुछ हालिया उदाहरण उदत कीजिए। 10 Marks

Q4. हाल के समय में भारत और यू.के. की न्यायिक व्यवस्थाएं अभिसरणीय एवं अपसरणीय होती प्रतीत हो रही हैं। दोनों राष्ट्रों की न्यायिक कार्यप्रणालियों के आलोक में अभिसरण तथा अपसरण के मुख्य बिदओं को आलोकित कीजिये। 10 Marks

Q5. 'एकदा स्पीकर, सदैव स्पीकर ! क्या आपके विचार में लोकसभा अध्यक्ष पद की निष्पक्षता के लिए इस कार्यप्रणाली को स्वीकारना चाहिए ? भारत में संसदीय प्रयोजन की सुदृढ़ कार्यशैली के लिए इसके क्या परिणाम हो सकते है ? 10 Marks

Q6. सामाजिक विकास की संभावनाओं को बढ़ाने के क्रम में, विशेषकर जराचिकित्सा एवं मात स्वास्थ्य देखभाल के क्षेत्र में सुदृढ़ और पर्याप्त स्वास्थ्य देखभाल संबंधी नीतियों की आवश्यकता है। विवेचन कीजिए। 10 Marks

Q7. "आर्थिक प्रदर्शन के लिए संस्थागत गणवत्ता एक निर्णायक चालक है"। इस संदर्भ में लोकतंत्र को सुदृढ़ करने के लिए सिविल सेवा में सुधारों के सुझाव दीजिए । 10 Marks

Q8. चौथी औद्योगिक क्रांति (डिजिटल क्रांति) के प्रादर्माय ने पादर्भाव ने ई-गवर्नेन्स को सरकार का अविभाज्य अंग बनाने में पहल की है । विवेचन कीजिए । 10 Marks

Q9. कोविड-19 महामारी के दौरान वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करने में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लू.एच.ओ.) की भूमिका का समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए। 10 Marks

Q10. अमेरिका व यूरोपीय देशों की राजनीति और अर्थव्यवस्था में भारतीय प्रवासियों को गाकर निर्णायक भूमिका निभानी है। उदाहरणा सहित टिप्पणी कीजिए। 10 Marks

Q11. राष्ट्र की एकता और अखण्डता बनाये रखने के लिये भारतीय संविधान केन्द्रीयकरण करने की प्रदर्शित करता है। महामारी अधिनियम, 1897; आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 तथा हाल में पारित किये गये कृषि क्षेत्र के अधिनियमों के परिप्रेक्ष्य में सुस्पष्ट कीजिये । 15 Marks

Q12.  न्यायिक विधायन, भारतीय संविधान में परिकल्पित शक्ति पृथक्करण सिद्धान्त का प्रतिपक्षी है। इस संदर्भ में कार्यपालक अधिकरणों को दिशा-निर्देश देने की प्रार्थना करने सम्बन्धी, बड़ी संख्या में दायर होने वाली, लोक हित याचिकाओं का न्याय औचित्य सिद्ध कीजिये। 15 Marks

Q13. भारत में स्थानीय निकायों की सुदृढ़ता एवं सपोषिता 'प्रकार्य, कार्यकर्ता व कोष' की अपनी रचनात्मक मावस्था से प्रकार्यात्मकता' की समकालिक अवस्था की ओर स्थानान्तरित हुई है। हाल के समय में प्रकार्यात्मकता की दृष्टि से स्थानीय निकायों द्वारा सामना की जा रही अहम चुनौतियों को आलोकित कीजिए । 15 Marks

Q14. विगत कुछ का दशकों में राज्य सभा एक उपयोगहीन स्टैपनी टायर से सर्वाधिक उपयोगी सहायक अंग में स्पांतरित हुआ है। उन कारको तथा पत्रों को आलोकित कीजिये जहाँ यह रूपांतरण दृगित हो सकता है। 15 Marks

Q15. एक आयोग के सांविधानिकीकरण के लिए कौन-कौन से चरण आवश्यक है ? क्या आपके विचार में राष्ट्रीय महिला आयोग को सांविधानिकता प्रदान करना भारत में लैंगिक न्याय एवं सशक्तिकरण और अधिक सुनिश्चित करेगा । कारण बताइए । 15 Marks

Q16. केवल आय पर आधारित गरीबी के निर्धारण में गरीबी का आपतन और तीव्रता अधिक महत्वपूर्ण " इस संदर्भ में संयुक्त राष्ट्र बहुआयामी गरीबी सूचकाक की नवीनतम रिपोर्ट का विश्लेषण कीजिए। 15 Marks

Q17. " सूक्ष्म-वित्त एक गरीबी-रोधी टीका है जो भारत में ग्रामीण दरिद्र की परिसंपत्ति निर्माण और आयसरक्षा के लिए लक्षित है। स्वयं सहायता समूहों की भूमिका का मूल्यांकन ग्रामीण भारत में महिलाओं के सशक्तिकरण के साथ साथ उपरोक्त दोहरे उद्देश्यों के लिए कीजिए। 15 Marks

Q18.  राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 धारणीय विकास लक्ष्य-4 (2030) के साथ अनुरूपता में है। उसका ध्येय भारत में शिक्षा प्रणाली की पुनःसंरचना और पुनःस्थापना है। इस कथन का समालोचनात्मक निरीक्षण कीजिए। 15 Marks

Q19.  'चतुर्भुजीय सुरक्षा संवाद (क्वाड)' वर्तमान समय में स्वयं को सैनिक गठबंधन से एक व्यापारिक गुट में रूपान्तरित कर रहा है – विवेचना कीजिये । 15 Marks

Q20. भारत-रूस रक्षा समझौतों की तुलना में भारत-अमेरिका रक्षा समझौतों की क्या महत्ता है ? हिन्द-प्रशान्त महासागरीय क्षेत्र में स्थायित्व के संदर्भ में विवेचना कीजिए। 15 Marks

download

DOWNLOAD UPSC मुख्य परीक्षा Main Exam GS सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS 10 Year PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS SOLVED PAPERS PDF

(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा 2020 - मुख्य परीक्षा सामान्य अध्ययन (GS) Paper-1 - (भारतीय संस्कृति एवं विरासत,विश्व एवं समाज का इतिहास और भूगोल)

UPSC CIVIL SEVA AYOG

संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा



(Download) UPSC Mains 2020 General Studies Question Paper: 

सामान्य अध्ययन-I (भारतीय संस्कृति एवं विरासत,विश्व एवं समाज का इतिहास और भूगोल ) 



  • Exam Name: UPSC IAS Mains General Studies (सामान्य अध्ययन-1) (Paper-1)

  • Year: 2020

Q1.शैलकृत स्थापत्य प्रारंभिक भारतीय कला एवं इतिहास के ज्ञान के अति महत्त्वपूर्ण सोतों में से एक का प्रतिनिधित्व करता है। विवेचना कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए)  10 Marks

Q2. भारत में बौद्ध धर्म के इतिहास में पाल काल अति महत्त्वपूर्ण चरण है। विश्लेषण कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q3. लॉर्ड कर्जन की नीतियों एवं राष्ट्रीय आंदोलन पर उनके दरगामी प्रभावों का मूल्यांकन कीजिए ।  (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q4.परि-प्रशान्त क्षेत्र के भू-भौतिकीय अभिलक्षणों का विवेचन कीजिए (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q5.मरुस्थलीकरणा के प्रक्रम की जलवायविक सीमाएँ नहीं होती हैं । उदाहरणों सहित औचित्य सिद्ध कीजिए । (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q6.हिमालय के हिमनदों के पिघलने का भारत के जल-संसाधनों पर किस प्रकार दूरगामी प्रभाव होगा? (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q7. वर्तमान में लौह एवं इस्पात उद्योगों की कच्चे माल के स्रोत से दूर स्थिति का उदाहरणों सहित कारण बताइए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q8. बहु-सांस्कृतिक भारतीय समाज को समझने में क्या जाति की प्रासंगिकता समाप्त हो गई है ? उदाहरणों सहित विस्तृत उत्तर दीजिए । (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q9.  कोविड-19 महामारी ने भारत में वर्ग असमानताओं एवं गरीबी को गति दे दी है। टिप्पणी कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q10. क्या आप सहमत हैं कि भारत में क्षेत्रीयता बढ़ती हुई सांस्कृतिक मुखरता का परिणाम प्रतीत होती है ? तर्क कीजिए। (150 शब्दों में उत्तर दीजिए) 10 Marks

Q11. भारतीय दर्शन एवं परम्परा ने भारतीय स्मारकों की कल्पना और आकार देने एवं उनकी कला में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है। विवेचना कीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q12. मध्यकालीन भारत के फ़ारसी साहित्यिक स्रोत उस काल के युगबोध का प्रतिबिंब हैं । टिप्पणी कीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q13. 1920 के दशक से राष्ट्रीय आंदोलन ने कई वैचारिक धाराओं को ग्रहण किया और अपना सामाजिक आधार बढ़ाया । विवेचना कीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q14. नदियों को आपस में जोड़ना सूखा, बाढ़ और बाधित जल-परिवहन जैसी बहु-आयामी अन्तर्सम्बन्धित समस्याओं का व्यवहार्य समाधान दे सकता है । आलोचनात्मक परीक्षण कीजिए ।  (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q15. भारत में दशलक्षीय नगरों जिनमें हैदराबाद एवं पुणे जैसे स्मार्ट सिटीज़ भी सम्मिलित हैं, में व्यापक बाढ़ के कारण बताइए । स्थायी निराकरण के उपाय भी सुझाइए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q16. भारत में सौर ऊर्जा की प्रचर संभावना हालाकि इसके विकास में क्षेत्रीय भिन्नताएँ हैं। विस्तृत वर्णन कीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए)  (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q17. भारत के वन ससाधनों की स्थिति एवं जलवाय परिवर्तन पर उसके परिणामी प्रभावों का परीक्षण कीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q18.क्या भारत में विविधता एवं बहलवाद वैश्वीकरण के कारण सकट म विविधता एवं बहलवाट बसी कारण संकट में हैं ? औचित्यपूर्ण उत्तर दीजिए। (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q19. रीति-रिवाजों एवं परम्पराओं द्वारा तर्क को दबाने से प्रगतिविरोध उत्पन्न हुआ है । क्या आप इससे सहमत हैं ? (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

Q20.  भारत में डिजिटल पहल ने किस प्रकार से देश की शिक्षा व्यवस्था के संचालन में योगदान किया है ? विस्तृत उत्तर दीजिए । (250 शब्दों में उत्तर दीजिए) 15 Marks

DOWNLOAD UPSC मुख्य परीक्षा Main Exam GS सामान्य अध्ययन प्रश्न-पत्र PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS 10 Year PAPERS PDF

DOWNLOAD UPSC MAINS GS SOLVED PAPERS PDF

UPSC सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री

UPSC GS PRE Cum MAINS (HINDI Combo) Study Kit

(Books) Old NCERT Books : Themes In Indian History- Part I’Class 12th 



(Books) Old NCERT Books : Themes In Indian History- Part I’Class 12th 



Book Details : 

  • Publisher : National Council of Education Research and Training; 2007th edition (1 January 2018)
  • Language: : English
  • Paperback : 114 pages
  • ISBN-10 : 8174506519
  • ISBN-13 : 978-8174506511

Click Here to Buy From Amzon

NEW! OLD NCERT BOOKS Study Notes For UPSC Exams

Gist of NCERT Books Study Kit For UPSC Exams

Online Coaching for UPSC PRE Exam

General Studies Pre. Cum Mains Study Materials

(Admit Card) UPSC Combined Defence Services Examination (I), 2021



(Admit Card) UPSC Combined Defence Services Examination (I), 2021



Exam Name: Combined Defence Services Examination (I),

Year: 2021

Admit Card Issue Date: 07-01-2021

(Download) UPSC IAS Mains Essay Exam Question Paper - 2020



(Download) UPSC Mains 2020 Question Paper: Essay Compulsory



Marks : 250 (125x2)

Duration: 3 hours

Year : 2020

Exam Date : 08-01-2021

 

Write Two Essays, choosing One from each of the Sections A and B, in about 1000-1200 words each.

Section-A (125 marks) - Choose any one Essay

Section-A 

Q-1.Life is long journey between human being and being humane

Q-2.Mindful manifesto is the catalyst to a tranquil self

Q-3.Ships do not sink because of water around them ,  ships sink because of water that gets into them

Q-4.Simplicity is the ultimate sophistication

DOWNLOAD UPSC MAINS ESSAY (Compulsory) PAPERS PDF

Pages

Subscribe to RSS - trainee5's blog