(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा (प्राणि-विज्ञान) Paper-2- 2017


संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा
(Download) UPSC IAS Mains Exam Paper - 2017 : प्राणि-विज्ञान (Paper - 2)


प्राणि-विज्ञान
(प्रश्न पत्र - II)

निर्धारित समय : तीन घंटे

अधिकतम अंक : 250

प्रश्न-पत्र सम्बन्धी विशेष अनुदेश

कृपया प्रश्नों के उत्तर देने से पूर्व निम्नलिखित प्रत्येक अनुदेश को ध्यानपूर्वक पढ़े :

इसमें आठ (8) प्रश्न हैं जो दो खण्डों में विभाजित हैं तथा हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों में छपे हैं ।

परीक्षार्थी को कुल पाँच प्रश्नों के उत्तर देने हैं।

प्रश्न संख्या 1 और 5 अनिवार्य हैं तथा बाकी में प्रत्येक खण्ड से कम-से-कम एक प्रश्न चुनकर किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर दीजिए । प्रत्येक प्रश्न/भाग के अंक उसके सामने दिए गए हैं ।

प्रश्नों के उत्तर उसी प्राधिकृत माध्यम में लिखे जाने चाहिए जिसका उल्लेख आपके प्रवेश-पत्र में किया गया है, और इस माध्यम का स्पष्ट उल्लेख प्रश्न-सह-उत्तर (क्यू.सी.ए.) पुस्तिका के मुख-पृष्ठ पर निर्दिष्ट स्थान पर किया जाना चाहिए । प्राधिकृत माध्यम के अतिरिक्त अन्य किसी माध्यम में लिखे गए उत्तर पर कोई अंक नहीं मिलेंगे।

प्रश्नों में शब्द सीमा, जहाँ विनिर्दिष्ट है, का अनुसरण किया जाना चाहिए ।

जहाँ आवश्यक हो, आरेख / चित्र उत्तर के लिए दिए गए स्थान में ही दर्शाइए ।

प्रश्नों के उत्तरों की गणना क्रमानुसार की जाएगी । यदि काटा नहीं हो, तो प्रश्न के उत्तर की गणना की जाएगी चाहे वह उत्तर अंशतः दिया गया हो । प्रश्न-सह-उत्तर पुस्तिका में खाली छोड़ा हुआ पृष्ठ या उसके अंश को स्पष्ट रूप से काटा जाना चाहिए ।

खण्ड - A

Q1. (a) ‘लैम्प ब्रश' गुणसूत्र से क्या अभिप्राय है ? इसकी संरचना एंव कार्यात्मक महत्व की व्याख्या कीजिए।
(b) ‘बहुविकल्पी' से क्या अभिप्राय है ? बहुविकल्पता संबंधी परिघटना की विवेचना उपयुक्त उदाहरणों को देते हुए कीजिए।
(c) ‘विकास' में ‘पृथक्करण' की भूमिका को उपयुक्त उदाहरणों सहित, संक्षिप्त रूप में स्पष्ट करें ।
(d) आण्विक वर्गिकी और चिरसम्मत वर्गिकी के बीच अंतर स्पष्ट कीजिए।
(e) ‘संपूर्ण जन्तु क्लोनन' का विवेचन उपयुक्त उदाहरणों सहित कीजिए। संपूर्ण जन्तु क्लोनन में सम्मिलित विभिन्न चरणों का विवरण दीजिए।

Q2. (a) ‘प्रोटीन लक्ष्य साधना से क्या अभिप्राय है ? प्रद्रव्य-झिल्ली तक प्रोटीन अभिगमन के संर्दभ में इसको उदाहरण सहित समझाएं ।
(b) ‘आर.एफ.एल.पी. से क्या समझते हैं ? ‘आर.एफ.एल.पी. के अनुप्रयोगों की व्याख्या कीजिए।
(c) आण्विक प्रणोद (ड्राइव) से क्या समझते हैं ? विकास में इसके महत्व को उपयुक्त उदाहरणों सहित स्पष्ट करें ।

Q3. (a) गॉल्जी सम्मिश्र के संरचनात्मक संगठन और कार्यों का विस्तार से वर्णन कीजिए।
(b) वर्तमान घोड़े के विकास की प्रक्रिया के संबंध में रूपरेखा प्रस्तुत करें ।
(c) ‘प्राककेन्द्रकी' एवं 'सुकेन्द्रकी' जीन संगठन के बीच अन्तर स्पष्ट करते हुए, विवरण दें ।

Q4. (a) पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति के संबंध में विभिन्न मतों का संक्षिप्त में वर्णन करें ।
(b) ‘वंशशाखा' से क्या अभिप्राय है ? विकास में 'वंशशाखिकी' के महत्त्व की व्याख्या करें ।
(c) डी.एन.ए. अणु कैसे एक गुणसूत्र में सुव्यवस्थित होता है, व्याख्या कीजिए।

खण्ड-B

Q5. (a) ‘सहएन्जाइम' क्या हैं ? उपापचय में उनके महत्व की व्याख्या कीजिए ।
(b) संरचनाविकासक (मार्कोजेन) से क्या समझते हैं ? भ्रूणीय विकास में इसकी भूमिका की व्याख्या कीजिए।
(c) क्षुद्रांत में पाचन एवं अवशोषण प्रक्रम का वर्णन कीजिए।
(d) आर एच कारक का क्या अर्थ है ? मानवों में आर एच असंगतता की व्याख्या कीजिए ।
(e) समापवर्षी जीन से क्या अभिप्राय हैं ? उपयुक्त उदाहरणों सहित वर्णन करें ।

Q6. (a) रुधिर में गैसीय अभिगमन के संबंध में व्यापक लेखा प्रस्तुत करें ।
(b) पिशितांश की अतिसूक्ष्म संरचना का विवरण दीजिए, एवं पेशी संकुचन संबंधी प्रक्रम की व्याख्या कीजिए।
(c) अंडजननं-प्रक्रम का विवेचन कीजिए। अंडजनन की अवधि में अर्धसूत्रण में रुकावट के महत्व की व्याख्या कीजिए।

Q7. (a) संगठक (आर्गेनाइजर) से क्या अभिप्राय है ? ऐम्फिबियनों में अक्षकशेरुक (एक्सिस) के निर्माण में संगठक की भूमिका स्पष्ट कीजिए।
(b) तरल-प्रतिरक्षा में प्रतिरक्षी मुख्य खिलाड़ी की भांति हैं, विवेचना कीजिए ।
(c) चक्रीय ए.एम.पी. की संरचना का वर्णन कीजिए और द्वितीय दूत के रूप में उदाहरणों सहित इसकी भूमिका स्पष्ट करें ।

Q8. (a) आंतरिक सूत्रकणिकीय झिल्ली में इलेक्ट्रॉन अभिगमन कणिकाओं के संगठन को सचित्र स्पष्ट करें और ए.टी.पी. के संश्लेषण में इनकी भूमिका की व्याख्या कीजिए।
(b) रजोनिवृत्ति' से आप क्या समझते हैं ? महिलाओं में इसके घटित होने, परिणामों एवं महत्त्व का विवेचन कीजिए।
(c) मूल कोशिकाओं से क्या अभिप्राय है ? मानव हित में मूल कोशिकाओं के स्रोतों, प्रकारों, और अनुप्रयोगों की विवेचना कीजिए।

Click Here to Download Full Paper II

Printed Study Material for IAS Mains General Studies

UPSC सामान्य अध्ययन प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा (Combo) Study Kit

सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री (GS Mains Study Kit)

<< Go Back to Main Page