(Download) संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा - अर्थशास्त्र (Paper - 2) 2017

Need Study Materials for UPSC?
Call 
+91-8800734161 (9AM-9PM)


संघ लोक सेवा आयोग सिविल सेवा - मुख्य परीक्षा
(Download) UPSC IAS Mains Exam Paper - 2017 : अर्थशास्त्र (Paper - 2)


अर्थशास्त्र
(प्रश्न-पत्र 2)

निर्धारित समय : तीन घंटे

अधिकतम अंक : 250

प्रश्न-पत्र सम्बन्धी विशेष अनुदेश

कृपया प्रश्नों के उत्तर देने से पूर्व निम्नलिखित निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़े :

इसमें आठ प्रश्न हैं जो दो खण्डों में विभाजित हैं तथा हिन्दी और अंग्रेज़ी दोनों में छपे हैं ।

परीक्षार्थी को कुल पाँच प्रश्नों के उत्तर देने हैं।

प्रश्न संख्या 1 और 5 अनिवार्य हैं तथा बाकी में प्रत्येक खण्ड से कम-से-कम एक प्रश्न चुनकर किन्हीं तीन प्रश्नों के उत्तर दीजिए।

प्रत्येक प्रश्न/भाग के अंक उसके सामने दिए गए हैं ।

प्रश्नों के उत्तर उसी प्राधिकृत माध्यम में लिखे जाने चाहिए जिसका उल्लेख आपके प्रवेश-पत्र में किया गया है, और इस माध्यम का स्पष्ट उल्लेख प्रश्न-सह-उत्तर (क्यू.सी.ए.) पुस्तिका के मुख-पृष्ठ पर निर्दिष्ट स्थान पर किया जाना चाहिए । प्राधिकृत माध्यम के अतिरिक्त अन्य किसी माध्यम में लिखे गए उत्तर पर कोई अंक नहीं मिलेंगे।

प्रश्नों की शब्द सीमा, जहाँ उल्लिखित है, को माना जाना चाहिए तथा यदि उत्तर की शब्द सीमा मान्य सीमा से ज़्यादा अधिक अथवा ज्यादा कम हो, तो अंकों में कटौती की जा सकती है।

जहाँ आवश्यक हो, आलेख / चित्र उत्तर के लिए दिए गए स्थान में ही दर्शाइए ।

प्रश्नों के उत्तरों की गणना क्रमानुसार की जाएगी । आंशिक रूप से दिए गए प्रश्नों के उत्तर को भी मान्यता दी जाएगी यदि उसे काटा नहीं हो । | प्रश्न-सह-उत्तर पुस्तिका में खाली छोड़ा हुआ पृष्ठ अथवा पृष्ठ के भाग को पूर्णत: काट दीजिए ।

खण्ड A

Q.1 निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए :

(a) क्या आप इस बात का समर्थन करेंगे कि भारत में समृद्ध किसानों की आय पर कर लगाना चाहिए ? कारण दीजिए ।

(b) “सहायिकियाँ (सब्सिडीज़) अदक्षता और भ्रष्टाचार का एक स्रोत हैं ।” क्या आप भारत के संदर्भ में इस कथन से सहमत हैं ? अपने उत्तर का औचित्य दीजिए ।

(c) भारतीय वाणिज्यिक बैंकों की अनिष्पादी परिसंपत्तियों की समस्या किस कारण पैदा हुई है। और इस समस्या के समाधान के लिए क्या उपाय सुझाए जा रहे हैं ?

(d) उन्नीसवीं सदी में भारत में रेल एवं सड़क यातायात तंत्र के प्रारम्भ करने में कौन-से विचार निहित थे ?

(e) अठारहवीं सदी में भारत में विनिर्माण की स्थिति पर और उत्तरकालीन वि-औद्योगीकरण पर एक संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

Q2.

(a) पलायन थियोरी का क्या तात्पर्य है ? यह थियोरी 19वीं शताब्दी में भारत के पिछड़ेपन को

(b) क्या आपके विचार में उन्नीसवीं सदी के अन्त में ब्रिटिश सरकार के भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रति दृष्टिकोण में महत्त्वपूर्ण परिवर्तन हुआ था ? अपने तर्क के पक्ष में विशिष्ट उदाहरण दीजिए।

(c) भारत में औपनिवेशिक शासन के दौरान विभिन्न प्रकार की भूव्यवस्थाओं की तह में व्यापक रूप से कौन-से विचार अंतर्निहित थे ? विवेचना कीजिए।

Q3.

(a) भारत में हाल में विमुद्रीकरण के वर्तमान में और निकट भविष्य में प्रमुख प्रभाव का आपका क्या आकलन है ?

(b) भारत के पास जनांकिकीय लाभांश प्राप्त करने की बृहत् संभाव्यता है । इस बात को स्पष्ट कीजिए तथा उन आवश्यक उपायों की विवेचना कीजिए, जिनके द्वारा इसे प्राप्त किया जा सकता है ।

(c)  पिछले चार दशकों में भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जी.डी.पी.) में विनिर्माण क्षेत्रक के सापेक्षिक अंश की सामान्यतः क्या प्रवृत्ति रही है ? आपके विचार में इसका निष्पादन कैसा रहा है और सरकार इस मामले में क्या कार्यवाही करने का इरादा रखती है ?

Q4.

(a) भारत की आर्थिक संवृद्धि के साथ-साथ बढ़ती हुई असमता भी चल रही है । यह इस प्रकार कैसे हो रहा है और इस समस्या का न्यूनीकरण करने के लिए कौन-कौन से कदम उठाने आवश्यक हैं ?

(b)  मोटे तौर पर पिछले एक दशक के दौरान भारत के विदेशी व्यापार की व्यापक प्रवृत्ति पर और चालू खाता शेष पर एक टिप्पणी लिखिए ।

(c) भारत सरकार की विनिवेश नीति का समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए ।

खण्ड B

Q. 5  निम्नलिखित प्रत्येक प्रश्न का उत्तर लगभग 150 शब्दों में दीजिए :

(a) स्वतन्त्रता प्राप्ति से भारत के सकल घरेलू उत्पाद (जी.डी.पी.) में कृषि का सापेक्षिक योगदान धीरे-धीरे घटता रहा है । क्या आपके विचार से यह अर्थव्यवस्था की कमज़ोरी को रेखांकित करता है ? समझाइए ।

(b) ‘सार्वजनीन आधारिक आय’ की संकल्पना को और उसके अंतर्निहित तर्काधार को स्पष्ट कीजिए ।

(c) भारत की आर्थिक संवृद्धि में, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम क्या भूमिका निभा रहे हैं ?

(d) “यद्यपि 90 के दशक के मध्य में भारत में आर्थिक उदारीकरण का उद्देश्य औद्योगिक संवृद्धि था, तथापि वास्तव में सेवा क्षेत्रक ने अर्थव्यवस्था का पथप्रदर्शन किया ।” सुस्पष्ट कीजिए।

(e)  क्या आपके विचार से भारत की मुद्रा में हाल की मूल्यवृद्धि से भारत के निर्यात को हानि पहुँच रही है ? क्या इसका कोई लाभप्रद पक्ष भी हो सकता है ? संक्षेप में समझाइए ।

Q6.

(a) भारत में गरीबी उन्मूलन के विभिन्न कार्यक्रमों से वांछित सामाजिक-आर्थिक प्रगति प्राप्त नहीं " हुई है । प्रमुख कार्यक्रमों का उल्लेख कीजिए और उनकी कमज़ोरियों का अपना विस्तृत आकलन प्रस्तुत कीजिए ।

(b) भारत में किसानों की ऋण-माफ़ी के मामले में गुण-दोष क्या-क्या हैं ? समझाइए ।

(c) यद्यपि भारत खाद्यान्नों के उत्पादन में आत्मनिर्भर है, किन्तु फिर भी भारतीय कृषि के सामने कुछ बड़ी चुनौतियाँ हैं । सुस्पष्ट कीजिए ।

Q7.

(a) पिछड़ी अर्थव्यवस्था में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफ.डी.आई.) की क्या विकासात्मक भूमिका हो सकती है ? भारत एफ.डी.आई. को आकर्षित करने के लिए क्या नीति अपनाता रहा है। तथा देश को किन-किन रक्षोपायों को अपनाना चाहिए ?

(b)  स्वतन्त्रता प्राप्ति के बाद भारत में आर्थिक नियोजन की संकल्पना के क्रमिक विकास का एक संक्षिप्त विवरण दीजिए ।

(c) माल सेवा कर (जी.एस.टी.) को स्पष्ट कीजिए । विश्लेषण कीजिए कि यह भारत में कारोबार को किस प्रकार प्रभावित करने जा रहा है ।

Click Here to Download PDF

Printed Study Material for IAS Mains General Studies

UPSC सामान्य अध्ययन प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा (Combo) Study Kit

सामान्य अध्ययन सिविल सेवा मुख्य परीक्षा अध्ययन सामग्री (GS Mains Study Kit)

<< Go Back to Main Page