I-DAY  Offer

Model Questions for UPSC PRE यूपीएससी आईएएस (प्री) सीसैट CSAT (Hindi) Set-64

Model Questions for UPSC PRE यूपीएससी आईएएस (प्री) सीसैट CSAT (Hindi) Set-64

लेखांश: प्रश्नों के लिए निर्देषः नीचे दिए गए लेखांश को पड़े तथा उसके बाद प्रश्नों के उत्तर दे। आपके उत्तर लेखांश पर ही आधारित होना चाहिए कतर वार्ता से पूर्व विनाश की संभावनाओं को इंगित करती हुई ताजा खबरों की बाड़ के बीच में संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वैश्विक ताप वृद्धि प्लेनेट वार्मिग) को नियंत्रित करना अब और भी मुश्किल हो गया है । संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की रिपोर्ट में कहा गया है कि जलवायु परिवर्तन के लिए जिम्मेदार ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कटौती करने के वर्तमान संकल्प के फलस्वरूर इस सदी में औसत वैश्विक ताप में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस को वृद्धि देखी जा सकती है ।

   पूर्वऔद्योगिक स्तर पर वृद्धि की लक्षित सीमा 2 डिग्री सेल्सियस है। । विश्व मौसम विज्ञान संस्थान ने वायुमंडल में भू तापीय गैसों की मात्रा मे अभूतपूर्व वृद्धि दर्ज की है वहीं विश्व बैंक ने तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होने के कारण पृथ्वी पर व्यापक विनाश की चेतावनी दी है। यूएनईपी के अनुसार त्वरित कार्यवाही से अब भी विश्व को पटरी पर लाया जा सकता है लेकिन इसके लिए उत्सर्जन में 14 प्रतिशत तक की कटौती हो । अर्थात् अभी के 50.1 बिलियन टन प्रति वर्ष उत्सर्जन के बजाय 2020 मै 44 बिलियन टन उत्सर्जन का तत्व प्राप्त करना होगा। वैज्ञानिक कहते हैं कि वैश्विक ताप में औसतन 0.8 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि पहले ही हो चुकी है। 190 से ज्यादा देश वैश्विक जलवायु संधि का मसौदा तैयार करने के लिए कतर में मिलेंगे जिस पर 2015 तक हस्ताक्षर होना और 2020 तक उसका लागू होना अपेक्षित है ।

    ये देश क्योटो प्रोटोकॉल के पुनः कार्यान्वयन के लिए प्रयास करेंगे जो कि समृद्ध देशों को ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन में कमी करो को बाध्य करता है । ध्यातव्य है कि पिछला प्रस्ताव 31 दिसम्बर2012 को समाज होने वाला है । यूएनईपी ने कहा है कि कार्बन डाईऑक्साइड जैसी तापवर्धक गैसों की सघनता सन् 2000 से अब तक 20 प्रतिशत बढ़ चुकी है। 2008-09में आई अर्थिक मंदी के दौरान कुछ गिरावट के बाद अब यह उत्सर्जन फिर से बढ़ रहा है। यदि त्वरित कार्रवाई नहीं की गई तो 2021 तक उत्सर्जन की मात्रा 58 गीगाटन तक पहुँचने की आशंका है।

1. एक संगठन में अत्यंत मानवीय वातावरण है। यहां अत्यंत मावनीय वातावरण का अर्थ है।

(a) वैयक्तिक संबंध संगठनिक उद्दश्यो से ज्यादा महत्वपूर्ण है।
(b) लोगो के बीच तनाव एवं झगड़े किसी भी कीमत पर कम होने चाहिए
(c) अधीनस्थो का उत्साह पूर्णतयः स्वकेन्द्रित है।
(d) उपरोक्त सभी

2. एक मटिग के दौरान एक अधिकारी पेन्सिल से बार बार मेज पर आवाज करता है उसकी गतिविधि संभवतः परिणाम है।

(a) क्रोध
(b) निस्खत्साह
(c) अनिर्णय
(d) आक्रामक

3. तुम्हारे एक मित्र ने तुमसे किसी स्थान पर जल्द मिलने का वायदा किया। तुम आधे घण्टे से इंतजार कर रहे थे वह एक घण्टे उसका के बाद आयातुम बहुत क्रोधित थे तुम्हारे क्रोध का कारण था

(a) जल्द का मतलब तुम्हारे लिए 5 मिनट तथा तुम्हारे मित्र के लिए एक घण्टा था
(b) तुम्हारा मित्र तुम्हे महत्व नही दे रहा था
(c) तुम्हारे मित्र के पास कुछ बहुत जरूरी काम था।
(d) तुम्हारा मित्र तुम्हारा आदर नहीं करता था।

4. तुम एक टीम के लीडर हो और बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के सामने तुम अपनी टीम का प्रस्तुतीकरण कर रहे हो तुम्हारे प्रस्तुतिकरण से टीम के सदस्य काफी नाराज है उनकी नाराजगी का कारण है।

(a) तुम्हारा रचकेन्द्रित होकर प्रस्तुत किया गया भाषण एक ग्रुप की जगह मैं मेरा इत्यादि का प्रयोग
(b) साधारण भाषा का प्रयोग
(b) कार्य न करने के लिए अपनी टीम पर दोषारोपण
(b) अपनी टीम की प्रशंसा

5. साक्षात्कार कक्ष में तुम्हारे बिना भी शब्द बोले, साक्षात्कार करने एक वाले सदस्यो ने तुम्हारे बारे में कई पूर्व धारणाएं बना ली थी इसका कारण था

(a) व्यक्ति के शारीरिक हावभाव
(b) साक्षात्कार करने वाले सदस्यों के सामने तुम्हारा बायोडाटा
(C) तुम्हारी लिखित परीक्षा
(d) तुम इसके पहले साक्षात्कार दे चुके थे।

यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा के लिए अध्ययन सामग्री UPSC Hindi Study Materials

Online Coaching for UPSC, IAS PRE Exam

Answer:

1 (a), 2 (d), 3 (d), 4 (c), 5 (a)